Gonda News:75 गरीब बेटियों के हाथ हुए पीले, समाज कल्याण मंत्री ने वर-वधुओं को दिया आशीर्वाद

धनाभाव के कारण प्रदेश के किसी भी गरीब बेटी का नहीं रूकेगा विवाह-  समाज कल्याण मंत्री

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा। धनाभाव के कारण प्रदेश के किसी भी गरीब व्यक्ति की बेटी के हाथ पीले होने से नहीं रहेगें। प्रदेश के हर गरीब की बेटी का विवाह प्रदेश की सरकार करा रही है। विगत तीन वर्षों में प्रदेश में समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत तीन लाख से अधिक गरीब व्यक्तियों की बेटियों की शादी प्रदेश सरकार द्वारा कराई गई है और आने वाले दिनों में कोई भी ऐसा गरीब व्यक्ति नहीं बचेगा जिसकी बेटी का विवाह पैसे न होने के कारण रूका रहे। यह बातें प्रदेश के कैबिनेट मंत्री समाज कल्याण रमापति शास्त्री ने विकासखण्ड मनकापुर अन्तर्गत ग्राम पंचायत अशरफपुर में समाज कल्याण विभाग द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही।

सोमवार को मनकापुर के ग्राम पंचायत अशरफपुर में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में समाज कल्याण विभाग द्वारा 75 जोड़ों का सामूहिक विवाह कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए सम्पन्न कराया गया। कार्यक्रम में प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहे तथा उन्होंने नवदम्पत्तियों को आशीर्वाद व शुभकामनाएं दीं। आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सभी धर्मों का समान आदर करते हुए प्रदेश के हर गरीब की बेटी का विवाह अपने खर्चें पर करा रही है और अब तक प्रदेश में तीन लाख से अधिक गरीब बेटियों का घर बसाने का काम प्रदेश सरकार कर चुकी है। उन्होंने जनसामान्य से अपील करते हुए कहा कि यदि उनके गांव, घर या आसपास कोई ऐसा व्यक्ति है जो गरीबी के कारण अपनी बेटी का विवाह नहीं कर पा रहा हो, तो उसका सहयोग करें और उसे प्रदेश सरकार की इस महत्वांकाक्षी योजना के बारे में बताएं तथा मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत विवाह के लिए पंजीकरण में उनका सहयोग भी करें जिससे ज्यादा से ज्यादा गरीब परिवारों को इस योजना का लाभ मिल सके और गरीबों की बेटियों के भी अरमान पूरे हो सकें।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ‘‘हर हाथ को देगें काम, हर खेत को देगें पानी’’ के संकल्प के साथ समाज के हर पिछड़े व गरीब तबके के लोगों के उत्थान के लिए काम कर रही है। इस अवसर पर उन्होंने वर-वधुओं को आशीर्वाद दिया तथा अपने हाथों से उन्हें उपहार भी भेंट किया। 

कार्यक्रम में विधायक गौरा प्रभात वर्मा ने बतौर विशिष्ट अतिथि कहा कि गरीब और  पिछड़े वर्ग को ऊपर उठाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार विभिन्न प्रकार की जन कल्याणकारी योजनाएं लागू कर रही है। प्रदेश में महिलाओं, लड़कियों की स्थिति को बेहतर करने के लिए सरकार मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना संचालित कर रही है जिसके तहत गरीबों की बेटियों का विवाह धूमधाम से सम्पन्न कराया जा रहा है। उन्होंने अपील किया कि इस योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा गरीब परिवारों को मिले, इसके लिए ऐसे लोगों को बृहद स्तर  पर पंजीकरण कराएं। इस अवसर पर उन्होंने नव युगलों को आशीर्वाद दिया तथा सुुखमय दाम्पत्य जीवन की कामना की।

मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी ने कहा कि प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री सामूूहिक विवाह योजना के तहत 75 जोड़ों का सामूहिक विवाह कराया गया है जिसमें 10 मुस्लिम बेटियां तथा 65 हिन्दू बेटियों का विवाह कराया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा गरीबों की बेटियों के लिए 35 हजार रूपए आर्थिक सहायता के अतिरिक्त पायल, बिछुआ, टंकी, कई तरह के बर्तन, साड़ी, दूल्हे के लिए पगड़ी व दुल्हन के लिए चुनरी सहित डिनर सेट प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनपद में हर ब्लाक से ऐसे गरीब परिवार जिनकी बेटी की आयु 18 वर्ष पूर्ण हो चुकी हो और आर्थिक तंगी के कारण वे अपनी बेटी का विवाह न कर पा रहे हों, वे लोग प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत पंजीकरण कराएं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना वर्तमान में सामाजिक समरसता का कार्य कर रही है। इस योजना से हर जाति, धर्म व सम्प्रदाय के लोगों को लाभ मिल रहा है तथा एक ही मण्डप में विभिन्न धर्मों के मानने वाले लोगों की बेटियों की शादियां उनकी रीति रिवाज से कराई जा रही है। 

समारोह में जिला उपाध्यक्ष अनिल पासवान, बाबूलाल शास्त्री, जनार्दन तिवारी, बेद प्रकाश दूबे, पूर्व प्रमुख यूपी सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी मोतीलाल, तहसीलदार मिश्री सिंह चैहान, ग्राम प्रधान अशरफपुर मोतीलाल यादव, राजेन्द्र सिंह, अरूणेन्द्र सिंह आदि रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *