Lakhimpur Kheri News:खीरी पहुंची उप्र विधान परिषद की दैवीय आपदा प्रबंधन जांच समिति, कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों संग की बैठक

सभापति बोले, खीरी में दैवीय आपदा प्रबंधन में हुआ बेहतर काम
एन.के.मिश्रा
लखीमपुर खीरी।  सोमवार को उ.प्र. विधान परिषद की दैवीय आपदा प्रबंधन जांच समिति जनपद लखीमपुर खीरी पहुंची। समिति के आगमन पर कलेक्ट्रेट स्थित पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह एसपी विजय दुल ने पुष्पगुच्छ देकर समिति के सभापति एवं उनके सदस्यों का जनपद आगमन पर स्वागत किया।
कलेक्ट्रेट सभागार में दैवी आपदा प्रबंधन जांच समिति के सभापति रणविजय सिंह ने समिति के सदस्य एमएलसी हीरालाल यादव, सुरेश कश्यप की उपस्थिति में जनपद लखीमपुर खीरी के जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक की।  बैठक का सफल संचालन एडीएम अरुण कुमार सिंह ने किया।
बैठक मे समिति के सभापति रणविजय सिंह ने समिति के प्रासंगिकता व कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि खीरी के डीएम के नेतृत्व में जिले में अच्छा एवं बेहतर काम हुआ है। उन्होंने बताया कि समीक्षा के दौरान समिति के समक्ष कोई भी योजना लंबित नही मिली। बल्कि सभी योजनाओं में खीरी में बेहतर काम हुआ है। वही समस्त रिपोर्टें समिति के समक्ष सही ढंग से प्रस्तुत की गई है।
बैठक में समिति के समक्ष एसीएमओ डॉ. आर.पी. दीक्षित ने कोविड की अद्यतन स्थिति के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कोविड-19 चिकित्सालय जगसड में उपलब्ध संसाधनों एवं चिकित्सा उपकरणों के संबंध में जानकारी दी। कोविड-19 टीकाकरण के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि आज 17 केंद्रों पर ड्राई रन हुआ। इससे पूर्व जिले भर में 06 केंद्रों पर ड्राई रन हो चुका है। उन्होंने बताया कि जिले के सभी हेल्थ वर्कर्स की विवरण कोविन पोर्टल पर फीड कराते हुए टीकाकरण का पूरा माइक्रो प्लान तैयार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि टीकाकरण की तिथि घोषित होते ही टीकाकरण का कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। बीएसए बुद्ध प्रिय सिंह ने जिले में संचालित परिषदीय विद्यालयों के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि जिले में 3105 परिषदीय विद्यालय संचालित है। एडीएम अरुण कुमार सिंह ने अवैध शराब के विरुद्ध चलाए गए अभियान के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।
बैठक में गत 03 वर्षों में आकाशीय बिजली, हाईटेंशन लाइन, ट्रांसफार्मर स्पार्किंग से हुई आगजनी से जन-धन की हानि पर प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता, सर्पदंश से हुई जनहानि पर दी जाने वाली सहायता, नाव डूबने व नदी में डूबने से हुई जनहानि, जंगली जानवरों से हुई जनहानि होने पर देय धनराशि, ओलावृष्टि आंधी तूफान पेड़ गिरने तथा अग्नि कारणों से हुई मौतों से आश्रित परिवार को देय धनराशि, यातायात से हुई दुर्घटनाओं पर हुई कार्यवाही सहित विभिन्न बिंदुओं पर बिंदुवार समीक्षा की।
बैठक के अंत में डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने समिति के सभापति एवं अन्य सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि समिति द्वारा जो भी दिशा निर्देश एवं मार्गदर्शन प्राप्त हुआ उसका पूरे मनोयोग ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ अनुपालन कराया जाएगा।
बैठक में पुलिस अधीक्षक विजय दुल, डीएफओ दक्षिणी समीर कुमार, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व अरुण कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक  अरुण कुमार सिंह, एआरटीओ प्रवर्तन  रमेश चौबे, बीएसए बुद्ध प्रिय सिंह, सहायक निदेशक सूचना रत्नेश चंद्र सहित आबकारी यातायात लोक निर्माण विभाग प्रदूषण बेसिक शिक्षा सहित अन्य विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *