Lakhimpur- Kheri-News-नदियों का जलस्तर बढ़ने से गांवों में घुसा बाढ़ का पानी

एन.के.मिश्रा

धौरहरा( लखीमपुर-खीरी)। बुधवार की रात बनबसा बैराज से 02 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के कारण अचानक बढ़े शारदा व घाघरा नदी के जल स्तर से तहसील क्षेत्र में नदी के किनारे बसे हुए रैनी समदहा सहित कई निचले आबादी वाले गांवों में पानी भर गया। गांवों में बसे ग्रामीणों द्वारा अधिकारियों को सूचना दी गयी है।

एसडीएम एस सुधाकरन  द्वारा क्षेत्रीय राजस्व निरीक्षक और लेखपाल को बाढ़ से प्रभावित परिवारों एवं भूमि कटान इत्यादि का सर्वे कर तत्काल रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश दिए गए हैं। एवं निचले आबादी में बसे हुए लोगों को सुरक्षित स्थानों  पर भेजने के निर्देश दिए गए। बताते चलें कि नेपाल से घाघरा नदी में पानी आने से जलस्तर बढ़ने के कारण गिरजा बैराज से 229301 पानी  28 जुलाई 2020 से प्रतिदिन पानी छोड़ा जा रहा है जिस से घाघरा नदी के किनारे बसे हुए निचले आबादी क्षेत्रों में जलभराव की स्थितियां उत्पन्न हो गई हैं। जिसमें मुख्यरूप से बेलागड़ी ओझा पुरवा कैराती पुरवा चकदहा परसा बिंजहा इत्यादि गांव में बाढ़ से आनेेक समस्याएं उतपन्न हो गयी है।

ग्राम चकदहा जो कि शारदा नदी के दूसरी तरफ बसा हुआ है वहां पर जलस्तर बढ़ने की वजह से ग्राम चकदहा के व्यक्ति का आवागमन अन्य क्षेत्रों में बाधित हो गया है जिसके कारण गांव के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए तत्काल मोटरबोट भेज दी गई है एवं सभी लोगों को सुरक्षित स्थान पर चौकी हसनपुर कटौली में शिफ्ट किया जा रहा है वर्तमान समय में किसी प्रकार की जनहानि एवं पशुहानि व कृषि कटान की कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है अधिशासी अभियंता सिंचाई खंड शारदा नगर द्वारा 30 जुलाई 2020 को अगले 72 घंटों के लिए हाई अलर्ट जारी किया गया है तहसील धौरहरा क्षेत्र में स्थापित सभी बाढ़ चौकियों को क्रियाशील कर दिया गया है।

तहसील धौरहरा क्षेत्र में बाढ़ से निपटने हेतु  तहसील धौरहरा की पूरी टीम तैयार है वर्तमान समय में बाढ़ की समस्या के दृष्टिगत समस्त राजस्व निरीक्षकों के अवकाश को निरस्त कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *