Lakhimpur- Kheri-News:मुख्य चिकित्सा अधिकारी के आदेश को धता बताकर लगातार खुल रहा अवैध नर्सिंग होम

एन.के.मिश्रा

गोला गोकर्णनाथ, लखीमपुर-खीरी।  नगर में फर्जी नर्सिंगहोमों की बाढ़ सी आ गई है। जगह-जगह कुकुरमुत्ता की तरह नर्सिंग होम खुल गए हैं जिनमें से कई नर्सिंग होमों में डॉक्टर नाम की कोई चिड़िया तक नहीं है। जिम्मेदार अधिकारी सब कुछ जानते हुए भी अनजान बनने का नाटक कर रहे हैं।  

बताते चलें कि मोहम्मदी रोड सरायन नदी के निकट एक शिफा नर्सिंग होम नाम से अस्पताल संचालित किया जा रहा है। जिसमें न तो कोई डॉक्टर है और न तो उसका रजिस्ट्रेशन है, यहां तक की प्रचार-प्रसार हेतु लगे साइन बोर्ड पर भी किसी डॉक्टर का नाम व डिग्री अंकित नहीं है। फिर भी नर्सिंग होम का संचालक मरीजों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहा है तथा तरह-तरह की जांचें भी करवा रहा है।

संवाददाता ने मौके पर जाकर सत्यता जाननी चाही तो नर्सिंग होम में कोई डॉक्टर मौजूद नहीं था। केवल एक व्यक्ति जो नर्सिंग होम का संचालक है वहीं मरीजों का इलाज करता पाया गया।

कुछ समय पूर्व इस नर्सिंग होम  की खबर कुछ चैनलों व समाचार पत्रों में प्रकाशित की गई थी। तब उच्चाधिकारियों ने जानकारी ना होने की बात कह कर अपना पल्ला झाड़ लिया था। समाचार प्रकाशित होने के उपरांत जब अधिकारियों की किरकिरी होने लगी तो मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 मनोज अग्रवाल ने आनन-फानन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉक्टर गणेश को उक्त नर्सिंग होम के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करते हुए सील करने का आदेश पारित किया था।

किंतु तमाम दिन बीत जाने के उपरांत भी डॉ0 गणेश ने अपने उच्चाधिकारियों के आदेशों का पालन नहीं किया है और मुख्य चिकित्साधिकारी के आदेश के बावजूद भी कार्यवाही करने की जहमत उठाना उचित नहीं समझा।  जिसके चलते नर्सिंग होम संचालक के हौसले बुलंद हैं और वह धड़ल्ले से इलाज करते हुए मरीजों की जिंदगियों के साथ खेल खेलने में मस्त है।

हालांकि संवाददाता को डॉ0 गणेश ने फोन के माध्यम से बताया कि उपरोक्त शिफा नर्सिंग होम को मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा सीज कर कार्रवाई करने का आदेश मिला है एक-दो दिन में उच्चाधिकारियों के आदेश का पालन करते हुए उपरोक्त नर्सिंग होम पर विधिक कार्यवाही की जाएगी।अब देखना यह है की मुख्य चिकित्साधिकारी के आदेश के तहत डॉ0 गणेश उपरोक्त नर्सिंग होम के संचालक के विरुद्ध क्या कार्यवाही करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *