Gonda News:यूपी बोर्ड की अंक सुधार परीक्षा को शुचिता के साथ सम्पन्न कराने को लेकर डीएम की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न

18 सितम्बर से 06 अक्टूबर तक आयोजित होगी अंक सुधार परीक्षा, डीएम ने जारी किए सख्त आदेश
राम नरायन जायसवाल
 गोण्डा। जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित अंक सुधार परीक्षा 2021 को पूरी शुचिता के साथ सम्पन्न कराने के आदेश दिए हैं। कलेक्ट्रेट सभागार में परीक्षा केंद्रों के केंद्र व्यवस्थापकों, स्टेटिक, सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेटों के साथ बैठक सम्पन्न हुई।
बैठक में डीएम ने स्पष्ट किया कि अंक सुधार परीक्षा मानकों एवं नियमों के अनुसार पूरी पारदर्शिता के सम्पन्न कराई जाय। उन्होंने बताया कि बोर्ड परीक्षा जनपद में कुल 10 परीक्षा केन्द्रों पर शनिवार 18 सितम्बर से 06 अक्टूबर तक आयोजित होगी। इस परीक्षा में हाईस्कूल के 338 एवं इण्टरमीडिएट के 585 छात्र सम्मिलित होगें।
बैठक के दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा अवगत कराया गया कि परीक्षा हेतु निर्धारित समस्त परीक्षा केन्द्रों में 10 वाह्य केन्द्र व्यवस्थापक, 10 पर्यवेक्षक, 04 सचल दल, 45 स्टेटिक मजिस्ट्रेट, 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट तथा 04 जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। सभी परीक्षा केन्द्रों को जिला स्तरीय कण्ट्रोल रूम से व राज्य स्तरीय कण्ट्रोल रूम से जोड़ा जा चुका है तथा कण्ट्रोल रूम में पर्यवेक्षण हेतु नोडल व पाली वार प्रभारी अधिकारियों की तैनाती की गई है।
       डीएम निर्देश दिए कि जिला स्तरीय कण्ट्रोल रूम में जनपद के सभी 10 परीक्षा केन्द्र सम्पूर्ण परीक्षा अवधि में निरन्तर आन लाइन रखा जाय, तथा इसके निरन्तर पर्यवेक्षण के लिए कण्ट्रोल रूम में नोडल एवं प्रभारी अधिकारी तैनात रहेगें। उन्होंने कहा कि यदि किसी परीक्षाकेन्द्र में सी0सी0टी0 कैमरा सुचारू रूप से न चल रहा हो तो उसकी लिखित रिर्पोट तत्काल जिला विद्यालय निरीक्षक को दी जाये। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिए सभी परीक्षा केंद्रों में तैनात स्टेटिक मजिस्ट्रेट अपने ड्यूटी तिथि को परीक्षा प्रारम्भ के समय सुबह 08 बजे प्रथम पाली व 02 बजे दोपहर द्वितीय पाली में शुरू होने से 45 मिनट पूर्व निर्धारित परीक्षा केन्द्र में पहुंच जाएं और वहां पर तैनात अधिकारियों, कक्ष निरीक्षकों, आंतरिक सचल दल के सदस्यों की उपस्थिति की जांच करेगें।
          उन्होंने स्टेटिक मजिस्ट्रेटों को निर्देशित किया है कि वह अपनी उपस्थिति में प्रश्न पत्रों को खुलवाना सुनिश्चित करेंगें तथा परीक्षा समाप्ति के उपरान्त उत्तर पुस्तिकाओं को सील कराने के उपरान्त ही परीक्षाकेन्द्र को छोडेगें तथा परीक्षाकेन्द्र परिसर के अन्दर परीक्षार्थियों का पाठय सामग्री ले जाने की अनुमति कदापि न दी जाये। इस निमित्त परीक्षा केन्द्र परिसर में प्रवेश के पूर्व ही गेट पर आन्तरिक निरीक्षक दस्तों के द्वारा जिला प्रशासन के सक्रिय सहयोग से परीक्षार्थियों की व्यापक रूप से तलाशी ली जायें। आन्तरिक निरीक्षण दस्ते में परीक्षा केन्द्र के अध्यापक रहेगें। उन्होंने कहा कि स्टेटिक मजिस्ट्रेट यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी व्यक्ति परीक्षा केन्द्र के अन्दर मोबाइल ले कर ना जाने पाये। परीक्षाकेन्द्रों के औचक निरीक्षण के दौरान वाइस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी कैमरा के प्रभावी रूप से कार्य करने, संचालित होने की जांच अवश्य कर ली जाय।
           संवेदनशील व अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर वाइस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी फुटेज व रिकॉर्डिंग के साथ राउटर डिवाइस के क्रियाशील होने की जांच निश्चित रूप से की जाय। परीक्षा केन्द्रों पर तैनात केन्द्र व्यवस्थापक, वाह्य केंद्र व्यवस्थापक पूरी परीक्षा अवधि की वायस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी फुटेज एवं रिकार्डिंग सुरक्षित रखने के साथ ही राउटर डिवाइस को क्रियाशील रखेंगें और निरीक्षण अधिकारी को परीक्षा अवधि से अवगत करायेगें। केन्द्र व्यवस्थापक के साथ केंद्र में तैनात पर्यवेक्षक एवं स्टेटिक मजिस्ट्रेट यह सुनिश्चित करेंगे कि प्रश्न पत्र एवं उत्तर पुस्तिकाएं सीसीटीवी फुटेज की निरंतर निगरानी में सुरक्षित रखी जायें।
बैठक में डीएम ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि यह सुनिश्चित करें कि प्रत्येक केन्द्र में पर्याप्त पुलिस कार्मिक तैनात रहें तथा प्रत्येक केंद्र में 02 पुलिस कांस्टेबल केन्द्र के चारों ओर निरन्तर भ्रमणशील रहें ताकि कोई भी व्यक्ति परीक्षा के दौरान उत्तर पुस्तिकाओं को अन्दर ध् बाहर न करने पाये। सभी सचल दलों को निर्देशित किया गया कि निरन्तर भ्रमणशील रहकर नकल विहीन सुचिता पूर्ण परीक्षा सम्पन्न करायेगें व प्रश्नपत्रों की सुरक्षा एवं उत्तर पुस्तिकाओं के लेखा को परीक्षा केन्द्रों में भ्रमण के दौरान अवश्य जांच की जाय।
         उन्होंने कहा कि अंक सुधार परीक्षा के दौरान परीक्षा में नकल आदि की शिकायत राज्य स्तर पर टोल फ्री नम्बर 18001805310 एवं 18001805312 तथा व्हाट्सएप नम्बर 9415866899 पर की जा सकती है। जनपद स्तर पर 05262-356882 इस नम्बर पर शिकायत दर्ज करायी जा सकती है। उन्होंने निर्देशित किया कि कंट्रोल रूम के प्रभारी प्राप्त शिकायत पर की गयी कार्यवाही का भी अंकन करेेंगें तथा प्रत्येक काल का अंकन एक रजिस्टर पर किया जाय।
  बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी, डीआईओएस राकेश कुमार, बीएसए, सभी एसडीएम व पुलिस क्षेत्राधिकारीगण, सेक्टर, जोनल व स्टेटिक मजिस्ट्रेट्स एवं केन्द्रों व्यवस्थापक व प्रबन्धक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *