Gonda News:अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जनपद मुख्यालय व तहसीलों में आयोजित हुए कार्यक्रम

टाउन हॉल गोण्डा में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर नारी शक्तियों को किया गया सम्मानित

मा0 मुख्यमंत्री जी के कार्यक्रम का लखनऊ से हुआ सजीव प्रसारण

मिशन शक्ति दूत के रूप में नामित महिला एनसीसी कैडेट्स को मिला आई-कार्ड

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा ।‘‘कोमल है कमजोर नहीं, शक्ति का नाम ही नारी है’’ के उद्घोष के साथ अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जनपद की चारों तहसीलों सहित जनपद मुख्यालय पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य कार्यक्रम नगर के डा0 सम्पूर्णानन्द प्रेक्षागृह टाॅउन हाॅल में महिला कल्याण विभाग द्वारा आयोजित किया गया जिसमें मिशन शक्ति, नारी सशक्तिकरण, सुरक्षा व स्वावलंबन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं व बालिकाओं को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम का शुभारम्भ आईजी देवीपाटन परिक्षेत्र डा0 राकेश सिंह, डीएम मार्कण्डेय शाही, एसपी शैलेश कुमार पाण्डेय तथा सीडीओ शशांक त्रिपाठी की उपस्थिति में नारी शक्ति की प्रतीक महिला अधिकारियों नगर मजिस्ट्रेट वन्दना त्रिवेदी, उपश्रमायुक्त देवीपाटन मण्डल रचना केसरवानी तथा एआरटीओ बबिता वर्मा ने दीप प्रज्वलित कर किया।

कार्यक्रम का औपचारिक शुभारम्भ लखनऊ से मा0 मुख्यमंत्री जी के उद्बोधन के सजीव प्रसारण के बाद शुरू हुआ। कार्यक्रम में मिशन शक्ति की ब्रांड एंबेसडर के तौर पर नामित एनसीसी महिला कैडेट को आईडी कार्ड वितरण किया गया तथा राजपथ पर आयोजित गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होकर जिले का गौरव बढ़ाने वाली एनसीसी कैडेट ऑफिसर अर्पिता सिंह को प्रतीक चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। तत्पश्चात महिला थाना प्रभारी सहित एंटी रोमियो में नियुक्त उपनिरीक्षक एवं महिला आरक्षीयांे को मिशन शक्ति के तहत महिलाओं, बालिकाओं को जागरूक के उपलक्ष्य में प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इसके अतिरिक्त बेसिक शिक्षा विभाग, महिला कल्याण सहित अन्य विभागों की महिला कार्मिकों को प्रशस्ति पत्र का वितरण किया गया। कस्तूरबा गांधी विद्यालय की छात्राओं द्वारा महिला सशक्तीकरण से सम्बन्धित नाटक व गीत प्रस्तुत किए गए।

नारी शक्ति को नमन करते जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने कहा कि महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन के लिए प्रदेश सरकार हर प्रकार के सख्त कदम उठा रही है साथ ही तमाम प्रकार के जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन करा रही है। मिशन शक्ति जैसा महत्वाकांक्षी अभियान महिला व बालिका सुरक्षा को लेकर प्रदेश सरकार की संवेदनशीलता का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि शक्ति की उपासना के पर्व शारदीय नवरात्रि से शुरू हुआ मिशन शक्ति अभियान शक्ति की उपासना के पर्व बासन्तिक नवरात्रि के साथ ही समाप्त होगा।


इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री पाण्डेय ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा नारी समान, बालिका सुरक्षा व स्वावलम्बन को लेकर विभिन्न योजनाएं संचालित है जिसके तहत महिलाओं, बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कार्य किए जा रहे हैं। नारी सुरक्षा, नारी सम्मान व नारी स्वालंबन के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि हमें लड़का-लड़की में कोई भेदभाव नहीं करना चाहिए, सभी को समान शिक्षा समान अधिकार मिलना चाहिए जिससे बेटियों में किसी तरह की कोई हीन भावना न आने पाए। इसके लिए प्रत्येक प्रशिक्षित एनसीसी महिला कैडेट को कम से कम 05-05 गांवों में जाकर ऐसी बालिकाएं जो स्कूल नहीं जाती हैं उन्हें स्कूल जाने के लिए प्रेरित करेंगी। साथ ही उनके माता-पिता से संवाद स्थापित कर उन बालिकाओं को स्कूल भेजने के लिए भी प्रेरित करेगीं, ताकि हर बालिका शिक्षित होकर स्वावलंबी बन सके तथा समाज में सम्मान पा सके। बालिकाओं, महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार द्वारा कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं जैसे- मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर-1076 वूमेन पावर लाइन-1090 महिला हेल्पलाइन नंबर-181 चाइल्ड केयर नंबर-1098 यूपी-112 आदि जिनको समय पड़ने पर उपयोग करने के बारे में बताया जा रहा है। इसके साथ ही यह भी बताया कि जनपद में महिला पीआरबी संचालित है जिसको रात्रि के समय आवश्यकता पड़ने पर भी उपयोग किया जा सकता है।


कार्यक्रम में अधिवक्ता व समाज सेविका रूचि मोदी ने कहा कि ग्रामीण व पिछड़े अंचल की महिलाएं जिनके पास कोई रोजगार या शिक्षा का अभाव है, उन्हें एनआरएलएम योजना से जोड़ने का काम उनके द्वारा कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी के सहयोग से उनके द्वारा माझा क्षेत्र की महिलाएं जो अवैध शराब बनाने का काम कर रही थीं, उन्हें जागरूक कर अवैध शराब के कारोबार से हटाकर आजीविका मिशन से जोड़ने का काम किया गया है। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि महिलाओं को शिक्षित, और बराबर का दर्जा दिए जाने की आवश्यकता आज भी बरकरार है।

कार्यक्रम के दौरान सिटी मजिस्ट्रेट वन्दना त्रिवेदी, उपश्रमायुक्त रचना केसरवानी, जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह, एआरटीओ बबिता वर्मा, एलबीएस उपाध्यक्ष सुश्री वर्षा सिंह, रीना यादव एलबीएस प्रिन्सिपल वन्दना सारस्वत, जीजीआईसी प्रिन्सिपल गीता त्रिपाठी, ओएसडी शिवराज शुक्ल रूचि मोदी, दीपक दूबे, ज्योत्सना सिंह, मनोज उपाध्याय सहित अन्य अधिकारीगण तथा नारी शक्तियां उपस्थित रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *