Lakhimpur Kheri News:करीब एक लाख की मौजूदगी में लखीमपुर हिंसा में मारे गए चारों किसानों का एक साथ अंतिम अरदास

करीब एक लाख की मौजूदगी में लखीमपुर हिंसा में मारे गए चारों किसानों का एक साथ अंतिम अरदास

 

एन के मिश्रा

लखीमपुर खीरी। आज तिकोनिया में उसी हिंसा स्थल के पास बीस एकड़ के खेत मे अंतिम अरदास का कार्यक्रम किया गया जहां तीन अक्टूबर को हिंसा हुई थी। मारे गए चारो किसानों लवप्रीत सिंह, नक्षत्र सिंह, गुरविंदर सिंह, दलजीत सिंह का एक साथ अरदास कार्यक्रम किया गया। करीब एक लाख किसान व  उनके परिवार कार्यक्रम में मौजूद रहे । 10 से 11 तक शबद कीर्तन हुआ।11 बजे सभा हुई । चार घंटे तक आगंतुकों ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए  ।

संतो ने ज्ञान की बाते कहीं। बाद में अरदास हुई। अश्थि कलश वितरित किये गए  । भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्र टेनी बर्खास्त किये जायें। हिंसा की साजिश की धारा 120 बी में गिरफ्तार हो। आगरा जेल में शिफ्ट हो। पांच दिन बाद पुलिस रिमांड लेकर पूंछताछ करे। यही दो मांग है। संघर्ष से समाधान हमारा मंत्र है।4 अक्टूबर को 10000 लोगो, संयुक्त किसान मोर्चा के लोगो के सामने बात हुई। हम आज भी उसपर कायम हैं। जब तक टेनी गिरफ्तार नही होते । दोनो आगरा जेल में नही जाते ।

 

तब तक सही जांच नही हो सकती। अभी तक की पुलिस जांच रेडकार्पेट जांच थी ।  15 अक्टूबर को बुराई का पुतला फूंका जाएगा  । 18 को देश भर में 10 से 4 बजे तक ट्रेन रोकी जाएंगी  । 24 को विधि विधान सेअस्थि कलश निकलेंगे। 26 को लखनऊ में बड़ी पंचायत होगी। दोनो मांग पूरी न होने तक आंदोलन चलेगा ।

अंतिम अरदास में आ रहे लोगो पर आज पुलिस ने अत्याचार किया है। अकारण रोका है।धान की खरीद अधिकारी ठीक से करवाएं। पराली पर उत्पीड़न बन्द करें । सिख संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जसवीर सिंह विर्क, पंजाब किसान मोर्चा के अध्यक्ष राजेवाल, हरियाणा के गुरनाम सिंह चंदूनी आदि ने भी श्रद्धासुमन अर्पित किए।

 

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी, एमपी दीपेंद्र हूँडा, धीरज गुर्जर, रालोद के अध्यक्ष जयंत चौधरी, सपा जिलाध्यक्ष राम पाल सिंह, डॉ पूर्वी वर्मा आदि राजनैतिक नेता मौजूद थे, सभी आम लोगों के साथ ही बैठे।

 

आज पूरे जिले में सुरक्षा व्यवस्था चुस्त थी। पैरामिलिट्री फोर्स भी कार्यक्रम स्थल के आसपास तैनात थी। एडीजी एसएन सावत, आईजी लक्ष्मी सिंह,डीएम अरविंद चौरसिया, एसपी विजय ढुल,  एएसपी अरुण सिंह मौजूद रहे। बाहर से आये 5 आईपीएस व 5 एएसपी, 8 सीओ आदि अधिकारी कार्यक्रम स्थल पर ही मौजूद रहे। ड्रोन कैमरे भी लगाए गए थे। जगह जगह बैरियर लगे थे ।चार बड़े बडे पार्किंग स्थल बनाये गए थे ।


गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी बर्खाश्त हो । पिता व पुत्र आगरा जेल में पांच दिन बन्द रक्खे जाए। फिर पुलिस उनकी कस्टडी रिमांड ले । रेड कार्पेट जांच से कुछ नही होगा। जब तक दोनों मांगे पूरी नही होती तब तक देश व्यापी आंदोलन जारी रहेगा: राकेश टिकैत

आपराधिक छवि के व्यक्ति को गृह राज्य मंत्री बनाना ही गलत था। उन पर कत्ल का मामला अब भी हाईकोर्ट लखनऊ में लंबित है। उनके पद पर रहते न्याय संभव नही; जयंत चौधरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *