Lakhimpur- Kheri-News-बाढ़ एवं कटान से निपटने के लिए प्रशासन पूरी तरह तत्पर : डीएम

बाढ़ प्रभावितों को राशन किट वितरण के साथ ही दी जा रही है स्वाथ्य सेवाएं


जिलाधिकारी ने बाढ़ प्रभावितों को हर सम्भव मदद मुहैया कराने के दिए निर्देश

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी 22 अगस्त 2020। जिला अधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि बाढ़ एवं कटान से निपटने के लिए जिला प्रशासन मुख्यमंत्री जी के कुशल निर्देशन में पूरी तरह प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि जिले की बाढ़ एवं कटान प्रभावित 05 तहसीलों का स्वयं उन्होंने जायजा लिया है। शासन की मंशा के अनुरूप जिले के प्रभावित हर व्यक्ति की हर संभव मदद के लिए प्रशासन पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। 


उन्होंने बताया कि कि सभी बाढ़ प्रभावित तहसीलों के उप जिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को प्रभावित क्षेत्रों के व्यक्तियों को शासन की मंशा के अनुरूप हर संभव मदद करने के लिए निर्देशित किया जा चुका है। राजस्व, बाढ़ खण्ड तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लगातार आवश्यक राहत कार्य सुचारू रूप से कराए जाएं।


डीएम ने बताया कि जिले में कुल 40 बाढ़ चौकियां स्थापित की गई है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में ग्रामीणों के आवागमन हेतु कुल 79 नावे लगाई गई है। वही सभी राजस्व अधिकारियों को स्पष्ट रूप से निर्देशित कर दिया गया है कि नाव में क्षमता से अधिक व्यक्तियों को कदापि ना बिठाया जाए।

इन क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराने हेतु चिकित्सा विभाग के एक अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को इसका नोडल बनाते हुए कुल 40 मेडिकल टीमें लगाई गई हैं एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी के नेतृत्व में पशुओं हेतु 102 पशु शिविर भी लगाए गए हैं।

मेडिकल टीमों द्वारा अब तक 1986 मानव का उपचार किया गया है। पशु शिविरों में अब तक 1293 पशुओं को उपचारित करने के साथ ही 19012 पशुओं का टीकाकरण किया जा चुका है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में शासन द्वारा निर्धारित सामग्री के अनुरूप तैयार कराए गए खाद्यान्न किट अब तक 9419 लोगों में वितरित कराया जा चुका है। 15370 मीटर त्रिपाल भी वितरित किया जा चुका है।

अभी तक इन क्षेत्रों में क्लोरो क्वीन टेबलेट का वितरण कराया जा चुका है। राजस्व विभाग के 5 मोटर बोट लगाए गए हैं। इसी के साथ साथ एक पीएसी की टीम भी राहत कार्यों के लिए क्रियाशील है।
डीएम ने बताया कि बाढ़ एवं अतिवृष्टि से अब तक 166 ग्राम प्रभावित हो चुके हैं। वही 15 ऐसे ग्राम हैं जिनके संपर्क मार्ग भी कट गए है। जिले की 80203 जनसंख्या अभी तक प्रभावित हुई है।  कुल प्रभावित क्षेत्रफल 22615 हेक्टेयर है।  कृषि योग्य भूमि 6594.54 हेक्टेयर प्रभावित है। 6445.72 हेक्टेयर बोया गया क्षेत्र फल प्रभावित है। 


डीएम ने बताया कि कच्चे मकान 41, पक्के मकान 20 आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त, 15 पक्के मकान पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं वही 39 झोपड़ियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। उन्होंने जनपद में हुई वर्षा शारदा एवं घाघरा ब्रिज पर नदियों के जलस्तर के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि 01 जून से 22 अगस्त तक दैनिक वर्षा 14 मिमी एवं क्रमिक वर्षा 725. 24 मिमी है। उन्होंने बताया कि शारदा नदी का शारदा बैराज पर आज का जलस्तर 135.45 मिमी, घाघरा नदी का गिरजा बैराज पर आज का जलस्तर आज 135.45 मिमी है।


डीएम ने बताया कि सभी उप जिला अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में जनप्रतिनिधियों के माध्यम से बाढ़ एवं कटान पीड़ितों को खाद्यान्न किट वितरित कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *