Gonda Colonelganj News: बाढ़ प्रभावित ग्राम नकहरा में बाढ़ प्रभावित मजरों में प्रशासन ने राहत सामग्री का वितरण किया

एसपी सिंह / ज्ञान प्रकाश मिश्रा

करनैलगंज(गोंडा)। सरयू (घाघरा) का जलस्तर तेजी से बढ़ने के बाद तहसील करनैलगंज के बाढ़ प्रभावित ग्राम नकहरा में बाढ़ प्रभावित मजरों में प्रशासन ने राहत सामग्री का वितरण किया है। तहसील करनैलगंज के ग्राम नकहरा के बाढ़ राहत केंद्र गौरा सिंहपुर में एसडीएम करनैलगंज ज्ञान चन्द्र गुप्ता व आपदा विशेषज्ञ राजेश श्रीवास्तव ने 442 प्रभावितों को फूड पैकेट व राशन किट तथा 400 लोगो को पॉलिथीन (त्रिपाल) का वितरण किया। अब तक 1522 फूड पैकेट वितरित किया गए है।

एसडीएम ने बताया कि तहसील करनैलगंज के नौ मजरे प्रभावित हुए हैं। जिसमें 2371 लोग व 1183 मवेशी प्रभावित हुए। उन्होंने बताया कि अभी तक जनहानि एवं पशु हानि नहीं हुई है। बाढ़ से 290 हेक्टयर का क्षेत्रफल प्रभावित हुआ है। जिसमें लगभग 40 लाख लागत की फसल क्षति का अनुमान है। प्रशासन द्वारा अब तक प्रभावित 530 लोगो को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। आवागमन के लिए 170 नावें लगाई गई हैं। डीएम डॉ. नितिन वंशल ने संभावित बाढ़ के दृष्टिगत किसी भी स्थिति से निपटने के लिए राजस्व टीमों व मेडिकल टीमों को एलर्ट कर दिया है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि जिले में इस वर्ष 17 जून से अब तक लगभग 960 मिली लीटर वर्षा हुई है। घाघरा नदी के बढ़े जलस्तर को देखते हुए राजस्व व मेडिकल टीमों को एलर्ट कर दिया गया है। बाढ़ से निपटने के लिए जिले में 23 बाढ़ चाौकियां सक्रिय हैं तथा दो राहत वितरण केन्द्र वर्तमान में संचालित हैं।

इसके साथ ही एक प्लाटून पीएसी की फ्लड बटालियन भी तहसील तरबगंज में तैनात है। मेडिकल रिस्पान्स के लिए मेडिकल की 19 टीमें गठित हैं तथा अब तक 995 लोगों का उपचार मेडिकल टीम द्वारा किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि अब तक 27 हजार 682 लोगों को क्लोेरीन की टैबलेट तथा 1 हजार 3 सौ 34 लोगों को ओरआरएस घोल का पैकेट दिया जा चुका है। पशुओं को रोगों से बचाने हेतु पशुओं का टीकाकरण पशुपालन विभाग द्वारा कराया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *