Lakhimpur Kheri News:नोट बन्दी से ₹ 8 करोड़ 13 लाख 49 हजार 500 सहकारी बैंक में मृत रक्खा है

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी। नोटबन्दी के कारण 8 नवम्बर 2016 से सहकारी बैंक लखीमपुर खीरी में  अवशेष क्लोजिंग का ₹  813 लाख 49 हजार 500 मृत रक्खा है।   न बैंक को न जनता  को इससे कोई लाभ  हो रहा है। न इस धन का ऋण दिया जा सकता है और न हि कहीं डिपाजिट हो सकता है। देश की करेंसी की यह दुर्गति चिंता का विषय है।

  करेंसी रक्खे होने की  बात आज बैंक के अध्यक्ष विनीत मनार ने स्वयं  बताई। अब बैंक की याचिका सुप्रीम कोर्ट में स्वीकृत हो गयी है। यह रकम आरबीआई ने लेने से मना कर दिया था।  मनार ने बताया कि 2019 – 20 में कोरोना के बावजूद 2 करोड़ 40 लाख का फायदा हुआ है।यह बीते वर्ष से 116 लाख ज्यादा है। गन्ना पर्ची पर बैंक ने ऋण देना शुरू किया है। ग्राहकों को एमपासबुक की सुविधा दी गयी है।समितियों को माइक्रो एटीएम दिए गए हैं। बैंक फास्टैग की सुविधा भी देने जा रही है । डीसीबी अब 5 की जगह 10 लाख पर्सनल लोन देगी।

विद्युत बिल कलेक्शन का अधिकार भी बैंक को मिल रहा है। बैंक की जिले में 62 शाखाएं हैं। 52 कर्मचारी रिटायर हो गए है । अब कुल 325 कर्मचारी है। कम से कम 495  की आवश्यकता है।  इसके बावजूद स्टाफ की मेहनत से व बोर्ड के सही पर्यवेक्षण से बिजनेस बढ़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *