Gonda Colonelganj News:बीमा एजेंट ने 24 लाख रूपये बीमा धारक के खाते से चेक का दुरूपयोग करते हुए निकाला

बीमा एजेंट ने 24 लाख रूपये बीमा धारक के खाते से चेक का दुरूपयोग करते हुए निकाला पीड़िता ने धोखाधडी का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराने के लिए दी तहरीर 

एसपी सिंह / ज्ञान प्रकाश मिश्रा  

करनैलगंज ,गोण्डा । बीमा के क्लेम का धन खाते में आने के बाद बीमा धारक  के खाते से एजेंट ने चेक का दुरुपयोग करते हुए 24 लाख रुपए खाते से निकाल लिया। पीड़ित महिला ने इस संबंध में कोतवाली में तहरीर दी है।
 घटना करनैलगंज नगर के मोहल्ला गाड़ी बाजार निवासी महिला आयशा पत्नी अली अहमद के साथ हुई। उसने कोतवाली में दी गई तहरीर में कहा है कि उसके पुत्र नियाज अहमद की मृत्यु हो गई। उसने अपना बीमा मैक्स लाइफ इंश्योरेंस से एजेंट राहुल मिश्रा के माध्यम से कराया था। लड़के की मृत्यु के बाद उसने क्लेम किया और क्लेम करने के बाद बीमा एजेंट ने बैंक में खाता खुलवाने की बात कही। जब आयशा ने खाता खुलवाने के लिए बीमा एजेंट से संपर्क किया तो बीमा एजेंट ने उसके नाम के चार शब्द लिखकर कहा कि इसकी प्रैक्टिस करके दो-तीन दिन में हस्ताक्षर बनाना सीख लो और तुम्हारा खाता बैंक में खुल जाएगा। जबकि महिला पढ़ी-लिखी नहीं है। उसके बाद महिला का खाता प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक शाखा चौरी चौराहा में ले जाकर खुलवा दिया और उसके हस्ताक्षर से चेक बुक जारी करा लिया। एजेंट ने चेक अपने पास ही रख लिया। उसके खाते में 17 नवंबर को 28 लाख 15 हजार रुपए बीमा कब प्राप्त हुआ उसके बाद खाते के चेक का दुरुपयोग करते हुए 19 नवंबर को एजेंट ने 9 लाख 50 हजार रुपये निकाल लिए। जिसकी जानकारी महिला को नहीं हुई। खाते में रकम की जानकारी होने पर जब उसने अपना खाता चेक करवाया तो पैसा कम होने पर उसने लोकवाणी के जरिए दस-दस हजार रुपए करके 4 लाख 10 हजार निकाले और पासबुक व चेक बुक एजेंट के पास ही रखे थे। 23 नवंबर को एजेंट ने कन्या वती नाम से चेक भर कर 14 लाख 50 हजार रुपए और निकाल लिए। महिला का कहना है कि कुल मिलाकर 24 लाख रुपए एजेंट द्वारा उसके चेक का दुरुपयोग करते हुए बैंक से पैसा निकाला गया। जबकि चेक पर उसके द्वारा हस्ताक्षर नहीं किया गया था। इतनी बड़ी रकम को बैंक से एजेंट द्वारा बैंक कर्मियों की मिलीभगत से निकाला गया। महिला आयशा ने एजेंट पर धोखाधड़ी करके उसका धन हड़पने का आरोप लगाते हुए कोतवाली में तहरीर दी है। इस संबंध में कोतवाल मनीष कुमार जाट कहते हैं कि मामले की जानकारी नहीं है यदि किसी के द्वारा इस तरीके की धोखाधड़ी हुई है तो तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *