Lakhimpur Kheri News:लखीमपुर में आयोजित श्रीमदभागवत कार्यक्रम में पहुंचे श्रद्धालु

एन.के.मिश्रा 

लखीमपुर खीरी ।नैमिषारण्य धाम से आए विद्वान संत भागवताचार्य डॉ.कृष्णाचार्य ने कहा कि श्रीमद्भागवत महापुराण मनुष्य को परमात्मा औ।र उसके बताए रास्ते का बोध कराती है,मुक्ति दिलाती है। जीवन से मुक्ति के लिए सत्य की प्राप्ति के लिए जो ब्रह्म का ज्ञान आवश्यक है वह श्रीमद्भागवत कराती है। इसके लिए कथा की आवश्यकता पड़ती है।
उन्होंने बताया कि जीव ईश्वर का अंश है,परंतु माया के कारण अनेक प्रकार के कष्ट सहन के लिए जब वह बाध्य हो जाता है तब उसे स्वयं की मुक्ति और सच्चिदानंद की प्राप्ति के लिए श्रीमद्भागवत कथा जैसे महापुराण से रास्ता दिखाने की जरूरत पड़ती है। उन्होंने बताया कि पद्म पुराण में विस्तार से वर्णन है, ज्ञान और अनुष्ठान से हमारा जीवन उन्नति के रास्ते पर ईश्वर प्राप्ति के रास्ते पर जाता है।ज्ञान यज्ञ में संतों के श्रीमुख से निकले हुए वचनों की आहुति अपने अंतःकरण की वेदी पर दी जाती है और श्रीमद् भागवत महापुराण एक ऐसा ही ज्ञान है श्रीमद् भागवत कथा के दौरान उन्होंने यह भी बताया कि पुराण भगवान के शरीर के अंग हैं इनमें मस्तक ब्रह्म पुराण चरण ब्रह्मांड पुराण हृदय पद्मपुराण रूम स्कंद पुराण है।उन्होंने बताया कि जो आनंद श्रीमद्भागवत महापुराण की कथा में है वह अनयंत्र नहीं, यही वह कथा है जिसे सुनकर राजा परीक्षित ने मुक्त पाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *