Gonda News:नियुक्त पत्र को लेकर शिक्षक-शिक्षिकाओं ने बीएसए कार्यालय पर जम कर काँटा हंगामा गाडी के आगे लेटे,देर रात्रि तक बटता रहा नियुक्त पत्र

376 शिक्षको को मिलना था नियुक्त पत्र 95 लोगों के प्रमाण पत्रो में मिली त्रुटियाँ 

गोण्डा। बेसिक शिक्षा परिषद की बहुप्रतीक्षित शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में चयनित जिले के 376 शिक्षकों के लिए शुक्रवार को नियुक्त पत्र बटना प्रारम्भ होने के पहले कागजो की कमी बताते हुए 95 लोगों का नियुक्त पत्र रोका शिक्षको ने जमकर बीएसए कार्यालय के सामने हंगामा करते हुए गाडी के सामने लेटे मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को हटा बीएसए को कार्यालय से सुरक्षित निकालने मे सफल रहे है। खबर लिखे जाने तक शिक्षक बीएसए कार्यालय पर जमे हुए थे। 

बताते चले कि बतातें चलें कि बेसिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा 69 हजार शिक्षकों की चयन प्रक्रिया में प्रदेश प्रदेश के 31227 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र जारी किया गया है। जिसमेे गोण्डा में 376 को नियुक्त पत्र बटना था दो दिन चली काउंसिलिंग में सारे लोगों के नियुक्त समबन्धित प्रमाण जमा कराये गये शुक्रवार को जिला पंचायत सभागार में एक समारोह का आयोजन के द्वारा ज़िलाधिकारी एवं जिले के   सभी विधायकों  जनप्रतिनिधियों द्वारा प्रमाण पत्र वितरण कराया जा रहा था इस बीच 95 लोगों की एक सूची चसपा कर दी गयी कि इन लोगों के प्रमाण पत्र में त्रुटि है। और नियुक्त पत्र देने से रोक दिया। 

बेसिक शिक्षा अधिकारी डाक्टर इंद्र जीत प्रजापति अपने कार्यालय से सायं लगभग छः बजे  निकल जाने लगे कि 95 नब्बे शिक्षक एवं शिक्षकाये नियुक्त पत्र न मिलने से उग्र गाड़ी के सामने लेट गये हंगामा करने लगे मौके पर पहुंचीं पुलिस ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को किसी तरंह कार्यालय से सुरक्षित निकालने में सफल रहे है। 

वही नाराज शिक्षक उसके उपरांत जिला अधिकारी आवास पर घेराव किया तो जिला अधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए की जांच कर इन लोगों को नियुक्त पत्र तत्काल दिलाये। 

एडीएम राकेश सिंह बेसिक शिक्षा कार्यालय पर पहुंच 49 लोगों का नियुक्त प्रमाण पत्र दिलाया है जबकि बाकी लोगों की जांच के बाद प्रमाण पत्र दिलाने की बात हो रही थी लेकिन खबर लिखे जाने तक लोग जमा रहे नियुक्त पत्र लिए बेगर न जाने की बात कह रहे थे। जांच में ज्यादातर निवास को लेकर दिककते आयी है जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डाक्टर इंद्र जीत प्रजापति ने बताया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *