Gonda News:गोल्डने कार्ड बनवाने में रूचि न लेने पर दो सीडीपीओ के खिलाफ डीएम ने की कार्यवाही

मिशन मोड में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का होगा कायाकल्प, डीएम ने सीडीओ व सीएमओ को दिए निर्देश

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा ।शासन के निर्देशानुसार जनपद के सभी 52 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। डीएम मार्कण्डेय शाही ने आरोग्य मेले की हकीकत देखने के लिए रविवार को विकासखण्ड झंझरी अन्तर्गत पीएचसी पन्त नगर, पीएचसी सिविल लाइन, पीएचसी राम नगर तरहर व खोरहंसा, विकासखण्ड हलधरमऊ अन्तर्गत पीएचसी बालपुर का औचक निरीक्षण किया तथा जिलाधिकारी द्वारा नामित पर्यवेक्षणीय अधिकारियों द्वारा सभी पीएचसी का निरीक्षण कर आरोग्य मेले का आयोजन कराया गया। बतातें चले कि डीएम द्वारा बाल विकास विभाग के सीडीपीओ, सुपरवाइजर तथा मुख्य सेविकाओं को पर्यवेक्षणीय अधिकारी नामित करते हुए पात्रों का गोल्डेन कार्ड भी बनवाने व आरोग्य मेले के व्यापक प्रचार-प्रसार की जिम्मेदारी दी गई है।


निरीक्षण के दौरान डीएम श्री शाही ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बालपुर मेें पात्र लाभार्थियों का गोल्डेन कार्ड बनवाने में सहयोग न करने पर सीडीपीओ हलधरमऊ नन्दिनी घोष को चेतावनी जारी करने तथा पीएचसी राम नगर तरहर में लाभार्थियों का गोल्डेन हेतु पात्रों की सूची न बता पाने पर सीडीपीओ झंझरी धर्मेन्द्र कुमार गौतम को प्रतिकूल प्रविष्टि जारी करने के आदेश दिए हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि आरोग्य मेले का मुख्य उद्देश्य जनसामान्य को मेले के माध्यम से स्थानीय स्तर पर प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना है, इसलिए इस सर्वोच्च प्राथमिकता कार्यक्रम में लापरवाही किसी भी दशा में स्वीकार नहीं की जाएगी, बल्कि रूचि न लेने वाले अधिकारी-कर्मचारी निश्चित ही दण्डित किए जाएगें।
निरीक्षण के दौरान प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर गन्दगी मिलने पर डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए सीएमओं को निर्देशित किया कि वे जनपद के सभी 52 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों की साफ-सफाई व आवश्यकतानुसार रंगाई-पुताई कराएं। जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को भी निर्देशित किया है कि वे मिशन मोड में सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों की रंगाई-पुताई व साफ-सफाई कराएं।
मेले में अपेक्षाकृत कम रोगी मिलने पर जिलाधिकारी ने कहा कि सभी नागरिकों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए आवश्यक है कि स्वास्थ्य सुविधाओं को उनके समीप पहुंचाया जाए। मेले में कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए लोगों के स्वास्थ्य की मॉनीटरिग, रोगों की रोकथाम एवं नियंत्रण का काम किया जाए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा ओपीडी, डिलेवरी कक्ष, वार्ड व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपलब्ध सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की गयी। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को आरोग्य मेले में जन सुविधा केन्द्र के माध्यम से आशा द्वारा लाभार्थियों को लाकर गोल्डेन कार्ड भी बनवाने तथा स्वास्थ्य केन्द्र पर डिलेवरी कराने का निर्देश दिया गया। इसके पश्चात जिलाधिकारी ने उपस्थित आशा, एएनएम व चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना बहुत ही लाभकारी है इस योजना का कैंप प्रत्येक रविवार को सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (ग्रामीण व शहरी) पर आयोजित होगा, जिसमें सभी लोगों को ओपीडी, टी0बी0, मलेरिया, डेंगू, दिमागी बुखार, फाइलेरिया एवं कुष्ठ रोग व अन्य आवश्यक जांच एवं उपचार की सुविधा उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के बारे में आशा, एएनएम के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार करा कर लोगों को जागरूक किया जाए। सीएमओ डॉ. अजय सिंह गौतम ने बताया कि शासन के निर्देश पर सभी नगरीय और ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर अब प्रत्येकर रविवार को स्वास्थ्य मेले के आयोजन किया जाएगा।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी के साथ मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अजय सिंह गौतम, एसडीएम सदर कुलदीप सिंह, ओएसडी शिवराज शुक्ला तथा पर्यवेक्षणीय अधिकारी व लाभार्थी उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *