Lakhimpur Kheri News:आजादी के बाद पहली बार जिले के 15 शहीद/ स्वतंत्रता सेनानी स्मारकों पर एक साथ होगा वंदे मातरम शाम को जलेंगे दीप

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी।  चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव का शुभारंभ 4 फरवरी को जिले में हो जाएगा। जिले के 15 शहीद/ स्वतंत्रता सेनानी स्मारकों पर साढ़े दस बजे प्रभात फेरी पहुंचेगी । एक साथ वंदे मातरम का गायन होगा। शाम को साढ़े पांच से साढ़े  छह बजे तक शहीदों के सम्मान में पुलिस बैंड बजेगा। साढ़े छह बजे दीप जलेंगे। शहीद ग्रामों में भी समारोह होगा । शहीदों के सम्मान में नारे लगेगें। 13 विकास क्षेत्र मुख्यालयों पर स्मारक बने है।  इनमे स्वतंत्रता संग्राम के सात शहीदों 665 स्वतंत्रता सेनानियों, आजादी के बाद विभिन्न युद्धों के छह शहीदों के नाम अंकित है। डीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह इस महोत्सव को यादगार बनाना चाहते है। सभी स्थलों में साफ सफाई हो रही है। लखीमपुर के स्मारक में 91, फूलबेहड़ 16, बेहजम 52, गोला 99, बांकेगंज 83, मोहम्मदी 26, मितौली 159, पसगवां 34, बिजुआ 33, पलिया 22, निघासन 17, धौरहरा 32 व ईसानगर में 11 नाम अंकित है । लखीमपुर में नासीरूद्दीन मौजी, माशूक, बशीर को लखीमपुर खीरी जेल में फांसी दी गयी। इन तीनो ने 1920 में तत्कालीन डीएम बिलोबी का मर्डर किया था। अगस्त 1944 में राज नारायण मिश्र निवासी भीखमपुर को जिला जेल लखनऊ में फांसी दी गयी। इन पर अंग्रेज हुकूमत के खिलाफ शस्त्र इकट्ठा करने का आरोप था।ग्राम संसार पुर निवासी रम्पा तेली को अंग्रेज फौज ने गोली मार दी थी। देवतादीन ग्राम करोहा व नत्थू लाल ग्राम भेटिया की मौत जेल में सजा भुगतने के दौरान हुई। यह 7 जिले में आजादी की लड़ाई में शहीद हुए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *