Gonda Colonelganj News: पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह को पुलिस ने किया हाउस अरेस्ट भभुआ कोर्ट पुलिस छावनी मेंं तब्दील

एसपी सिंह / ज्ञान प्रकाश मिश्रा

करनैलगंज(गोंडा)। केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि बिल के विरोध में रैली की तैयारी कर रहे पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह को पुलिस ने उनके आवास पर ही रोक लिया।

उनके आवास भंभुआ में भारी संख्या पुलिस बल तैनात कर उनको आवास से बाहर निकलने से रोंका गया। उसके बाद सैकड़ों की संख्या में सपा कार्यकर्ता भंभुआ पहुंच गए और सरकार विरोधी नारेबाजी करने लगे।

राज्यपाल को सम्बोधित सात सूत्री ज्ञापन एसडीएम ज्ञानचन्द्र गुप्ता को सौंपा

पूर्व मंत्री ने मौके की नजाकत को भांपते हुए अपने आवास परिसर में ही कार्यकर्ताओ को बैठाकर विरोध दर्ज कराते हुए राज्यपाल को सम्बोधित सात सूत्री ज्ञापन एसडीएम ज्ञानचन्द्र गुप्ता को सौंपा। जिसमें केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि विधायकों को तत्काल वापस लेने, पेराई सत्र 2020-21 में गन्ने का मूल्य सरकार द्वारा 450 प्रति कुंतल करने, बकाया गन्ना मूल्य का भुगतान कराने, धान एवं मक्का की सरकारी खरीद सुचारू रूप से कराने, बिजली आपूर्ति नियमित कराने, छुट्टा जानवरों द्वारा किसानों की फसलों का नुकसान बचाने की व्यवस्था, क्षेत्र में क्षतिग्रस्त हुई सड़कों के पुनर्निर्माण की मांग रखी गई है।

ज्ञापन देने वालों में पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह, जगपाल सिंह, शिव कैलाश पांडेय, फहीम अहमद पप्पू, चंद्रेश प्रताप सिंह, कामेश प्रताप सिंह, गिरजा शंकर सिंह, गणेश पांडेय, कपिल मिश्रा, दीपक कुमार पाठक, भूपेंद्र सिंह, हेमंत सिंह सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।

विधानसभा कटरा बाजार में तहसीलदार करनैलगंज को ज्ञापन सौंपा

उधर विधानसभा कटरा बाजार में तहसीलदार करनैलगंज को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें विधान सभा अध्यक्ष वकार खान, तस्लीम खान प्रदेश सचिव, राम अवध गोस्वामी, हरि श्याम, मसूद खान, इमरान खान, फारुख खान, हफ़ीज़ खान, हसनैन खान, उबैद खान, सन्नान खान, लेखराज यादव, राकेश यादव, राजू बाबा, मोबीन खान आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *