Gonda News:बभनजोत एव मनकापुर से सर्कस निकले छपिया के  प्रमुख सांसद एवं विधायक को किया गुमराह बीडीसी सदस्यो को लड्डू तक नही हुआ मवंसर 

अजय त्रिपाठी 

गोण्डा।जिले के विकास खण्ड छपिया के  प्रमुख मनकापुर व बभनजोत प्रमुख से निकले कुशल राजनीतिक यहाँ के क्षेत्र पंचायत सदस्यो को नहीं मिला एक ढेला लड्डू भी नही हुआ मवंसर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाओ का बाजार गर्म है। 

बताते चले की जिले मे हुए प्रमुख चुनाव में मनकापुर,बभनजोत व छपिया प्रमुख पद पर चुनाव सांसद कीर्ति वर्धन सिंह उर्फ राजा भइया को जोड़ कर देखा जा रहा था। यहां के प्रत्याशियों पर राजा भैया का वर्धस्त  प्राप्त था।बभनजोत में गौरा भाजपा विधायक प्रभात कुमार वर्मा की अनुज वधू चुनाव मैदान में होने के नाते उनकी भी प्रतिष्ठा दाव पर लगी थी निकट  सामने विधानसभा चुनाव होने के नाते प्रमुख पद पर चुनाव जीतना ही जीतना था अगर ऐसा न होता तो आगामी विधानसभा चुनाव में असर पडना तय था। जिसको  लेकर उन्होंने किले बन्दी की गौरा विधान सभा के एक पूर्व विधान सभा प्रत्यासी मुस्लिम नेता को अपने पक्ष में कर मुस्लिम बीडीसी मेम्बरो को अपने पक्ष में करते हुए अपने सजातीय बीडीसी मेम्बरो पर कड़  पकड़ बनाते हुए 107 क्षेत्र पंचायत सदस्यों वाली बभनजोत ब्लाक में75 क्षेत्र पंचायत सदस्यों को पहले से अपने पाले मे करते हुए उनके प्रमाण पत्र भी पहले से इकट्ठा कर रखे थे सूत्रो की माने तो दो दिन पूर्व 10 बीडीसी उनके समपर्क में और आ गये लेकिन वह संदिग्ध थे जिनके चलते उनका वोट नहीं पोल कराते हुए उनकों अपने पाले में वोटिंग के दिन तक बैठाये रखने के बाद उचित हक उनको दे दिया। 

मनकापुर प्रमुख ने भी अपने क्षेत्र पंचायत सदस्यों को जितना ज्यादा से ज्यादा उपहार स्वरूप बीडीसी मेम्बरो को  कम ज्यादा करके देने में कोई कोर कसर नही छोड़ी। 

लेकिन सबसे सर्कस निकले छपिया प्रमुख सूत्रो की माने तो राजा भइया को गुमराह करते हुए प्रमुख ने कहा चालीस क्षेत्र पंचायत सदस्यों को उपहार भेट हो चुकी है। पन्द्रह को और करना है। लेकिन कुछ ऐसा नही हुआ जिले क्या प्रदेश का इकलौता ब्लाक छपिया है जहां किसी क्षेत्र पंचायत को इस आर्थिक युग मे एक ढेला तक नही नसीब हुआ है। यहां तक जीत के चार दिन बाद भी किसी भी क्षेत्र पंचायत सदस्यों  को लड्डू भी नही मवंसर हो सका है । 

सूत्रो की माने तो क्षेत्रीय विधायक को भी  प्रमुख छपिया ने गुमराह किया उनसे भी जो राजा भइया से बताया था।कि चालीस को उपहार भेट हो चुकी है शेष पन्द्रह बाकी है। 

क्षेत्र पंचायत सदस्यों को बिना उपहार व लड्डू की बधाई तो प्रमुख को देनी ही पड़गी कर ही क्या सकते है जब कोई प्रमुख लडने वाले ही न रहे हो। 

लोगों की माने तो यह पहली बार हुआ है जब किसी बीडीसी को छपिया मे प्रमुख चुनाव में उपहार न मिला हो। 

वैसे चाहे जो वर्तमान प्रमुख परिवार को मनकापुर राज परिवार को  गुमराह करने की पहली वारदात नही है इसके पहले भी हो चुका है। 

खैर चाहे जो हो वर्तमान प्रमुख ने वोट मांगते समय क्षेत्र पंचायत सदस्यों से एक वादा भी किया था कि सभी क्षेत्र पंचायत सदस्यों को काम दूंगा उस पर भरोसा रखना चाहिए लेकिन एक क्षेत्र पंचायत सदस्य पहले से लगे हैं उनका पेट पहले भरेगा तभी और बीडीसी  काम के बारे में सोचेगें। 

 छपिया के क्षेत्र पंचायत सदस्य अपने को ठगा असहज महसूस कर रहे है।जिसका खामियाजा विधान सभा लोक सभा के चुनाव में पडना तय माना जा रहा है। 

लेकिन क्षेत्र में जो चर्चा है कि राजा भइया इंसाफ जरूर करगे उपहार व लड्डू दोनों मिलेंगे छपिया बीडीसी सदस्यो को। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *