Gonda News:मुख्यमंत्री को गुमराह कर एक बार फिर गन्दगी के मामले में गोण्डा को आखिरी पायदान पर पहुंचाने में जुटा स्वास्थय विभाग

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा। स्वास्थय विभाग साफ सफाई को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए तमाम योजना को चलाते हुए सीख देने को कोर कसर नही छोड़ रहा लेकिन चिराग तले अँधेरा मुख्यमंत्री के दौरे पर जिला अस्पताल में व्यापत गंदगी को छुपाने को लेकर टेन्ट व कनाथ की घेराबंदी को लेकर जिले में तरह-तरह की चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है।
बताते चले कि सोमवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने जिले का दौरा कर यह संदेश देने की कोशिश की कोरोना महामारी से निपटने को लेकर सरकार प्रतिबंध है गोण्डा पहुंचते सबसे पहले जिला अस्पताल में कोविड सहित भर्ती मरीजों का हाल जाना अस्पताल की व्यवस्था देखी लेकिन स्वास्थय विभाग व जिला प्रशासन जिस तरीके से मुख्यमंत्री के आँखों में धूल झोंका वह काबिले तारीफ ही कहा जायेगा।
गोण्डा से मुख्यमंत्री आजमगढ़ पहुंचे तो गोण्डा से सीफ लेने की हिदायत स्वास्थय विभाग के कर्मचारियों को देते हुए यह बात कही की अगर कोरोना की जंग जीतना है तो गोण्डा से सीखे ।
लेकिन दर असल जिला अस्पताल में बजबजाती नालियाँ और कूडे से लगे अम्बार जो तमाम संक्रामक बिमारियों को जन्म देती है साफ सफाई व्यवस्था उस ओर ध्यान ही नही गया। जाता भी कैसे सीएमओ डाक्टर आर एस केशरी ने जिला अस्पताल में वार्डो तक पहुचने वाले रास्ते की किले बन्दी कर रखी थी टेन्ट व कनाथ लगाकर बन्द कर रखा था जिसके चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की निगाह ही नही गयी और स्वास्थय विभाग तथा जिला प्रशासन की पीठ पूरे प्रदेश में थपथपाते हुए गोण्डा को माडल प्रस्तुत कर दिया है।
जिससे लोगों में यह चर्चा शुरू हो गयी है कि योगी जैसे मुख्यमंत्री को गुमराह करने मे यह अधिकारी पीछे नही रहे तो ऐसे में कही फिर से आखिरी पायदान पर गंदगी को लेकर जिले की हसायी शुरू न हो जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *