Lakhimpur Kheri News:सिंगहा कला ग्राम पंचायत में शासन द्वारा आवंटित राशि का हुआ बंदरबाट

एन.के.मिश्रा

सिंगाही, लखीमपुर खीरी। शासन के अनेक प्रयासों के बाद भी पंचायत के विकास कार्य केवल कागज पूर्ति तक ही सीमित रह जाते है। शासन की मंशा रहती की पंचायत में जो पैसा भेजा जाए वो पंचायत के उचित कार्यो में लगे, जिससे पंचायत जन को लाभ प्राप्त हो सके।लेकिन ग्राम पंचायत सिंगहा कला में शासन के मंशा के विपरीत कार्य करने में कोई कसर नही छोड़ रहे है, ग्राम प्रधान,  ग्राम पंचायत विभागीय अधिकारी व कर्मचारी?

बताते चले कि ग्राम पंचायतों में विकास कार्य की जिम्मेदारी प्रधान और पंचों की होती है। इसके लिए हर पांच साल में ग्राम प्रधान का चुनाव होता है, लेकिन ग्रामीण जनता को अपने अधिकारों और ग्राम पंचायत के नियमों के बारे में पता नही होता जिसका फायदा ग्राम प्रधान, विभागीय अधिकारी व कर्मचारी उठाते है।

अगर ग्राम पंचायत से कोई ऐसा व्यक्ति जो अपने अधिकारों के लिए लड़ना प्रारंभ कर देता है, तो उसके कदमों में लालच की बेड़ियां डाल दी जाती हैं और वो शांत होकर बैठ जाता है। ग्रामीण जनता के अधिकारों के हनन का मामला ग्राम पंचायत सिंगहा कला में जोरों पर है, जहाँपर आवंटित करोड़ों की राशि का आधा हिस्सा भी कार्यो में नही लगाया गया।

ग्राम पंचायत सिंगहा कला में ग्रामीण जन लाभ हेतु जो पैसा शासन द्वारा भेजा गया उसे ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत अधिकारी की मिली भगत के चलते उसे जमीनी स्तर न देकर  कागज तक ही सीमित रखा गया।

ग्राम पंचायत सिंगहा  कला में आवंटित की गई राशि में बड़े पैमाने पर हुए घोटाले की जानकारी जब ग्राम पंचायत अधिकारी अनिल कुमार वर्मा से फोन कर लेना चाहा तो फोन पर किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा जानकारी मिली कि अनिल कुमार वर्मा मीटिंग में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *