Lakhimpur Kheri News : राइसमिलों व आढ़तियों की दुकानों पर धान बेंचने की होड़ सरकारी धान क्रय केंद्रों पर सन्नाटा

1868 ₹  की जगह 1100 प्रति कुंतल बिक रहा धानकिसान परेशान

एन.के.मिश्रा

 लखीमपुर खीरी। जिले में सरकारी धान क्रय केंद्रों पर धान बेंचने में किसानों को काफी दिक्कत हो रही है। कभी नमी कभी टूटे धान कभी फरहा   क़भी विजातीय धान का बहाना बना कर किसान को वापस किया जा रहा है। वही आढ़तियों की दुकानों व राइस मिलो पर खरीदे गए धान का अंबार लगा है।  ₹ 1868 प्रति कुंतल के स्थान पर किसान ₹ 1100 में धान बेंचने को मजबूर है। कोरोना काल के चलते परेशान किसान को तत्काल नगदी की आवश्यकता है। वहीं प्रशासनिक अधिकारी खरीद को संतोष प्रद बताते हैं। डिप्टी आरएमओ लाल मणि पांडे ने  बताया कि जिले में कुल 129 धान क्रय केंद्र सरकारी स्तर पर खोले गए है।

एक अक्टूबर से खरीद प्रारम्भ हुई है। अभी तक 10000 एमटी धान खरीदा जा चुका है। पिछले वर्ष आज तक केवल 1000 एमटी धान खरीदा गया था। इस बार दस गुना ज्यादा है।  एडीएम अरुण कुमार सिंह ने बताया कि किसान आपाधापी में है। 31 जनवरी तक खरीद होगी। किसान धैर्य रक्खे सबकी खरीद होगी। इस वर्ष दो लाख 5 हजार एमटी सरकारी धान खरीद का लक्ष्य है।दिया धरनाआज  मंडी मोहम्मदी में नयागांव के सुखदेव सिंह , मियां पुर के सतनाम सिंह फरेंदा के करनैल सिंह आदि धरने पर बैठ गए। उनका कहना है कि 1868 का धान 1000 में बेंचने को वे विवश हैं। खरीद राइसमिल में होती है पर खरीद सरकारी शो हो जाती है। यह आश्चर्य है कि इतनी खरीद कैसे हो गयी।आन लाइन पंजीकरण की प्रक्रिया जटिल है। कई खरीद केंद्र बन्द जैसे है।एसडीएम स्वाति शुक्ला ने किसानों को समझाया।
 धान खरीद में कोताही बरतने वाली एजेंसियों को प्रतिकूल प्रविष्ट दी है। सरकार की मंशा के अनुरूप किसान हित मे 129 क्रय केंद्रों पर धान खरीद हो रही है। शिकायतों का त्वरित निस्तारण हो रहा है।शैलेन्द्र कुमार सिंह, डीएम, लखीमपुर खीरी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *