Gonda News:आयुक्त ने जनपद गोण्डा के धान क्रय केन्द्रों का किया औचक निरीक्षण

धान क्रय केन्द्र भटपी में अभिलेखों में एकरूपता न मिलने पर आयुक्त ने आरएफसी से शाम तक मांगी जांच रिपोर्ट

राम नरायन जायसवाल

एनबीटी,गोण्डा। आयुक्त देवीपाटन मंडल  एसवीएस रंगाराव ने शनिवार को जनपद गोंडा के राजकीय धान क्रय केंद्र मुन्डेरवा माफी, खरगूपुर तथा भटपी का औचक निरीक्षण कर धान क्रय की स्थिति का हाल जाना। इसके साथ ही उन्होंने यहां स्थित साधन सहकारी समितियों पर उर्वरकों की उपलब्धता तथा अभिलेखों का अवलोकन किया। पीसीएफ की ओर से स्थापित राजकीय धान क्रय केंद्र भटपी के निरीक्षण के दौरान अभिलेखों में एकरूपता न पाए जाने तथा अब तक हुई कुल धान खरीद 97 कुंन्तल के सापेक्ष स्टॉक में कमी के दृष्टिगत उन्होंने संभागीय खाद्य नियंत्रक देवीपाटन मण्डल को निर्देशित किया कि वे मौके पर रुक कर पूरे स्टाक का भौतिक सत्यापन, अभिलेखों की पूरी छानबीन व मिलान कर अपनी रिपोर्ट आज ही शाम तक उन्हें उपलब्ध कराएं।


आयुक्त नेे पीसीएफ द्वारा स्थापित धान क्रय केंद्र मुंडेरवा माफी के निरीक्षण के दौरान केंद्र के आसपास सफाई व्यवस्था ठीक न होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा ग्राम प्रधान के बारे में पूछताछ करते हुए सफाई व्यवस्था ठीक कराए जाने के निर्देश दिए।


    निरीक्षण के दौरान आयुक्त ने धान क्रय केंद्रों पर बैनर, रेट लिस्ट, क्रय रजिस्टर, किसानों को पैसा उपलब्ध कराए जाने की स्थिति, मिल को धान भेजे जाने की स्थिति तथा धान क्रय की स्थिति आदि का अवलोकन किया तथा इस बात के कड़े निर्देश दिए हैं कि क्रय केंद्रों पर आने वाले किसानों के क्षेत्रो में केन्द्र पर धान क्रय किए जाने का व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चि कर उनका धान क्रय किया जाय तथा किसी भी दशा में किसी भी स्तर पर किसानों को केन्द्रों पर धान बेंचने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। मुुण्डेरवामाफी क्रय केन्द्र पर उन्होंने धान खरीद की आॅनलाइन इन्ट्री व प्रतिदिन के अपलोड किए जाने की स्थिति का स्वयं लैपटाप चलाकर परीक्षण किया। अब तक वहां पर 149.80 कुन्तल खरीद हुई पाई गई। आयुक्त द्वारा  पैसों की उपलब्धता की जानकारी किए जाने पर आरएफसी नेे बताया कि अब तक गोण्डा में 01 करोड़ रूपया आ चुका है जिसमें से धान खरीद के सापेक्ष 20 लाख रूपए का व्यय हुआ है। उन्होंने आयुक्त को अवगत कराया कि पूरे जनपद में कहीं भी बोरे की कमी नहीं है। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही मिलों को केन्द्रों से धान भेजने की कार्यवाही की जायेगी।


आयुक्त द्वारा धान क्रय केन्द्र खरगूपुर के निरीक्षण के दौरान कृषकों ने अवगत कराया कि इस क्षेत्र में प्रति एकड़ 25 कुन्तल धान की अनुमानित पैदावार हुई है। निरीक्षण में पाया गया कि इस केन्द्र पर 326.50 कुन्तल धान क्रय किया गया है। आयुक्त ने किसान रामभवन व अमित कुमार की किसान बही से बेंचे गए धान की स्थिति का मिलान किया और केन्द्र प्रभारी को निर्देशित किया कि यह सुनिश्चित किया जाय कि धान क्रय में दलाल सक्रिय न रहनेे पाएं। इस केन्द्र पर पाया गया कि धान क्रय के सापेक्ष किसानों का पैसा उनके खातों में भेजा जा चुका है। आयुक्त ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाय कि किसान बही के सापेक्ष अधिक मात्रा में किसानों से धान क्रय कर बेंचने वाले दलालों का धान न क्रय किया जाय तथा उनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराकर कड़ी कार्यवाही की जाय।


आयुक्त को पीसीएफ द्वारा संचालित क्रय केन्द्र भटपी के निरीक्षण के दौरान मात्र 97 कुन्तल धान क्रय पाया गया और स्टाॅक मिलान करने पर गोदाम में पूरी मात्रा में धान का स्टाॅक कम पाए जाने के दृष्टिगत उन्होंने आरएफसी को निर्देश दिए कि वे वहीं रूककर स्टाॅक को चेक करें तथा जांच की रिपोर्ट आज शाम तक उन्हें प्रत्येक दशा में उपलब्ध कराएं। निरीक्षण के दौरान आयुक्त को अभिलेखों में भी एक रूपता नहीं पाई गई जिसके सम्बन्ध में उन्होंने आरएफसी से जांच की रिपोर्ट देने के साथ ही पीसीएफ के प्रबन्ध निदेशक को पत्र भेजने के लिए निर्देशित किया।
निरीक्षण के दौरान आयुक्त को ग्रामवासियों द्वारा अवगत कराया गया कि आर्यनगर से महराजगंज की सड़क कई वर्षों से टूटी हुई है जिसके कारण आवागमन में कठिनाई हो रही है। इस पर आयुक्त ने एक्सईएन पीडब्लूडी को इस सड़क से सम्बन्धित पूरा विवरण लेकर उन्हें शाम तक अवगत कराने के निर्देश दिए हैं।


निरीक्षण के दौरान सम्भागीय खाद्य नियंत्रक दिनेश शर्मा व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *