Lakhimpur Kheri News:20 वर्षीय दलित युवक का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पिता ने लगाया आरोप

20 वर्षीय दलित युवक का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का पिता ने लगाया आरोप
5 माह से मदरसा में बंधक बनाकर रखा गया
2 दिन प्रार्थना पत्र लेकर कोतवाली भटकता रहा दामोदर पुलिस ने नहीं की कार्रवाई
एन.के.मिश्रा
मोहम्मदी, लखीमपुर खीरी। कोतवाली क्षेत्र के 1 ग्राम के 20 वर्षीय दलित युवक को दिल्ली काम करने के बहाने ले गए दो युवकों द्वारा जबरन धर्मांतरण कराने का मामला सामने आया है।5 माह बाद मामले की जानकारी होने पर युवक के पिता ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की कुछ देर बाद मामला भाजपा कार्यकर्ताओं व विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह के संज्ञान में आने पर उन्होंने पुलिस को तत्काल युवक को आरोपियों के चंगुल से छुड़वाकर आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए कहा पुलिस ने मामला बिगड़ता देख लगभग 1 घंटे के उपरांत ही युवक को खोज कर दोनों आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया है।क्षेत्र के ग्राम गौरवपुर निवासी दामोदर ने पुलिस को दी गई तहरीर में आरोप लगाया है।कि उसका लड़का अनुज बराबर में एक भट्टे पर पेट की पथाई का काम करता था।जिसको लगभग 5 माह पूर्व भट्टे पर ही काम करने वाले मुहल्ला सरैया के राशिद वास आह्वान पुत्र यूनुस और 2,3 अन्य लोग मुस्लिम धर्म स्वीकार करने के लिए दबाव बनाते थे।उसके लड़के को दिल्ली में काम कराने के बहाने बहला फुसलाकर अपने साथ लेकर चले गए उसने अपने लड़के से मोबाइल पर कई बार बात करने की कोशिश की उसे कई जगह तलाश भी किया लेकिन उसका कुछ भी पता नहीं चला 29 अक्टूबर को जब उसे पता चला कि उसके लड़के को सरैया मंडी मार्ग पर स्थित दारुल उलूम फैजाने मुस्तफा मदरसे में जबरन धर्मांतरण करने के लिए उक्त दोनों आरोपित अपने अन्य सहयोगियों के साथ बंधक बनाए हुए हैं।युवक का पिता अपने लड़के से मिलने के लिए गया तो उसके लड़के ने बताया कि उक्त सभी लोग उसको जबरन मुस्लिम धर्म स्वीकार करना चाहते और दबाव बना रहे हैं। उपरोक्त व्यक्ति व अन्य मदरसे में बंधक बनाए हैं जब उसने अपने पुत्र को छुड़ाने की बात कही तो उसे अवसर कह कर जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया पुलिस ने मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली है।इस संबंध में अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह का कहना है कि तहरीर प्राप्त हुई है जिस पर रिपोर्ट दर्ज कर निष्पक्ष जांच की जाएगी।
मैं 2 दिन लगातार भटकता रहा पुलिस ने मेरी एक भी न सुनीअधिवक्ता विवेक शुक्ला के पास गया तब जाकर मेरी कार्रवाई प्रारंभ हुई।अभियुक्तों की गिरफ्तारी सुनिश्चित हो पाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *