Lakhimpur- Kheri-News:दिन भर काम करो, रात्रि में डाकखाने की लाइन में लगो, काम हो जाय कोई गारंटी नहीं

एन.के.मिश्रा

गोला गोकर्णनाथ,लखीमपुर-खीरी  जहां एक तरफ केंद्र एवं राज्य सरकारें आम जनमानस को सहूलियत मुहैया कराने के लिए तमाम जनकल्याणकारी योजनाएं चला रही हैं, तो वहीं सरकारी सिस्टम आम जनमानस को सहूलियत देना तो दूर की बात उनकी समस्याओं को जानना या उनसे रूबरू होना भी उचित नहीं समझता है।

बताते चलें कि गोला डाकघर में प्रतिदिन नगर व आस-पास के ग्रामीण इलाकों से आधार कार्ड बनवाने और संसोधन करवाने के लिए सैंकड़ो लोग अर्धरात्रि से ही लाइन लगा कर इसलिए बैठ जाते हैं कि शायद आज उनका नम्बर आ जाए और उनका आधार कार्ड बन जाय, किन्तु डाकघर द्वारा सिर्फ 40 टोकन ही दिए जाने की वजह से लोग मायूस होकर अगली अर्धरात्रि में फिर से लाइन में लगने के लिए मजबूर हो जाते हैं। ये लोग अपना आधार कार्ड सुधरवाने के लिए भूख, प्यास और नींद छोड़कर पंक्तिबद्ध होकर सुबह होने की प्रतीक्षा करने लग जाते हैं।   कोरोना जैसी महामारी में भी सैकड़ों लोग अपना जीवन दांव पर लगाकर किसी भी तरह अपने आधार कार्ड का संसोधन करवाना चाहते हैं।

नगर के तमाम समाजसेवी लगातार इस समस्या को शोशल मीडिया पर उठाते आ रहे हैं पर आज तक नतीजा ढाक के तीन पात ही रहा है। ये कैसी व्यवस्था है और क्यों सिर्फ डाकघर को ही आधार कार्ड संसोधन के लिए चुना गया?बैंक, जनसेवा केंद्र, लोकवाणी, ऑनलाइन आखिर इन जगहों पर भी बायोमेट्रिक और आई स्कैनर उपलब्ध हो सकता है। फिर जनता को इतना कष्ट सहकर कोरोना महामारी के साए में रहकर लाइन में लगकर सुबह होने का इंतजार करना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *