Gonda News:बहन के साथ छेड़छाड़ करने का बांधा बने एकलौते भाई की चाकुओ से गोदकर दंबगो ने दिन दहाडे की हत्या,नामित अभियुक्तो को गिरफ्तार करने मे नाकाम रही पुलिस

बहन के साथ छेड़छाड़ करने का  बांधा बने एकलौते  भाई की चाकुओ से गोदकर दंबगो ने  दिन दहाडे की  हत्या 

हत्या के पूर्व मृतक के बडे बाप को भी आरोपी ने चाकु लेकर दौडाया था जिसमें पुलिस ने मामूली धाराओं में मुकदमा दर्ज कर चाकु नही किया था बरामद वही चाकु हत्या का कारण बन गयी 

मृतक के परिजनों सहित ग्रामीणो ने  पुलिस के विरूद्ध नारे बाजी करते हुए सड़क जाम कर विरोध जताया 

सीओ के आश्वासन के बावजूद 48 घंटे बीत जाने के बावजूद सभी नामित अभियुक्तों की गिरफ्तारी नही 

बी.के.ओझा

गोण्डा। मनकापुर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में बहन के साथ छेड़छाड़ करने पर भाई के विरोध जताने पर दंबगो ने  दिन दहाडे चाकुओ से गोंद कर भाई की हत्या के मामले में पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में है। पन्द्रह दिन पहले आरोपी ने मृतक के परिजन को चाकु लेकर दौडाया था जिसमें पुलिस ने उचित धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के बजाय मामूली धाराओं में मुकदमा दर्ज कर ली थी चाकु को बरामद करने कोशिश भी नही की जिसके चलते वही चाकु युवक के मौत का कारण बन गया। 

कोतवाली क्षेत्र मनकापुर के गांव बल्लीपुर पासी पुरवा निवासी राहुल पुत्र स्वर्गीय राम बिलास 20 के बहन के साथ उसी गांव के  बल्लीपुर हतवा निवासी सुमित्रा नन्दन बराबर छेड़छाड़ किया करता था जिसको लेकर राहुल के बडे पिता ने विगत दिनों आरोपी को समझाने की कोशिश की इस पर युवक सुमित्रा नन्दन ने विरोध स्वरूप चाकु लेकर दौडाया तो किसी तरीके से राहुल के बडे पिता ने भागकर जान बचाई तथा इस समबन्ध में अपने भतीजी के साथ छेड़छाड़ की घटना को दर्शाते हुए चाकु लेकर दौडाने के बारे में कोतवाली पुलिस को लिखित तहरीर दी थी  लेकिन कमाऊ नीति के तहत पुलिस ने मामूली धाराओं में मुकदमा दर्ज कर चाकु लेकर दौडाने जैसी घटना को संज्ञान में नही लिया जिसके चलते आरोपी का साहस इतना बढगया की बृहस्पतिवार शाम सात बजे दंबग युवक सुमित्रा नन्दन राहुल के घर पहुंच धमकाते हुए उसके बहन को जबरदस्ती मोबाइल देने की कोशिश करने लगा परिवार वालों ने विरोध जताते हुए निकल जाने की बात कहते इस बीच और लोग परिवार के पहुंचते की वह वहां से निकल लिया। 

लेकिन दबंग युवक एक तरफा प्रेम को लेकर कुछ भी करने को तैयार था जिसमें कही न कही पुलिस का सहयोग भी उसे बल दे रही थी। उसके बाद उसने इस एकतरफा प्रेम को जुनून में बदलते हुए यह माना कि अगर राहुल को बीच से हटा दिया जाए तो मामला पक्ष में आ सकता है जिसको लेकर शुक्रवार को अपने गांव के ही एक युवक को साज़िश के तहत राहुल को घर से बुलवाकर बल्लीपुर बाजार में राधेश्याम  चाय के दुकान पर दिन दहाडे चाकुओ से गोंद डाला युवक को मनकापुर सीएचसी लाया गया जहां पर हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल के लिए रिफर कर दिया गया जहां पर इलाज के दौरान मौत हो गयी। 

युवक के मौत के बाद पुलिस ने इतना जरूर किया कि नामजाद हत्या  आरोपी  सुमित्रा नन्दन को हिरासत में ले लिया लेकिन पुलिस की भूमिका एक बार फिर आरोपी की मदद में दिखाई दी मृतक युवक राहुल की शव मरचरी में पडा था इधर शनिवार  सुबह लगभग आठ बजे हत्या आरोपी के परिजन दर्जनो की संख्या में जिसमें महिला पुरुष सभी शामिल थे पीड़िता के घर धावा बोल दिया यह कहते हुए कि अगर विरोध में कुछ किया तो राहुल की तरह तुम लोगों को भी ऊपर भेज देगे जिसको लेकर गांव वाले दौडे तो धमकाते हुए वहा से निकल लिए लोग उस वक्त मनकापुर कोतवाली के एस आई उमेश सिंह व  कांस्टेबल जितेन्द्र की वहां ड्यूटी थी उसके बावजूद यह घटना घट  जिसको लेकर पीड़िता के साथ सैकड़ो की संख्या में लोग मनकापुर बभनान हाइवे मार्ग जाम कर धरने पर बैठ पुलिस विरोधी नारे बुलन्द करने लगे इस बीच सूचना पर मनकापुर सीओ राम भवन यादव एसडीएम हीरा लाल व मनकापुर सर्किल के सभी लगभग सभी  थाने की पुलिस मौके पर पहुंच धरने पर बैठे लोग कुछ मानने को तैयार नही थे पुलिस विभाग के नाकामियों को बताते हुए पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे इस तरह लगभग तीन घंटे तक धरना चलता रहा लगभग 11बजे सीओ व एसडीएम ने धरना दे रहे लोगों को यह आश्वासन दिया कि चौबीस घंटे के अन्दर सभी नामित अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया जावेगा। इसके बाद धरना तो समाप्त हो गया लेकिन 48 घंटे के बाद कोई गिरफ्तारी नही हो सकी। 

मृतक युवक की पीडित मां मैना देवी की तहरीर पुलिस ने सुमित्रा नन्दन,राकेश कुमार बरूवार , राजू ,राकेश चौहान,अबदुल कादिर सहित तीन चार अन्य के विरूद्ध धारा 307,302,354,506,120Bके तहत मुकदमा दर्ज किया है। वही मनकापुर  कोतवाली पुलिस के एस आई उमेश सिंह के तहरीर पर पीड़िता के घर पर धावा बोलने को लेकर चार महिलाओं सहित 10 अज्ञात के विरूद्ध गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। 

रविवार भारी पुलिस बल के मौजूदगी में अवध केशरी सेना के लोगों ने कंधा देकर शव को मिट्टी दिया है जबकि पुलिस चाह रही थी शव का दाह संस्कार किया जाय लेकिन परिजन यह कह रहे थे अभी शादी नही हुई है ऐसे में दाह संस्कार नही हो सकता है।  

सीओ क्या कहते

 सीओ मनकापुर राम भवन यादव ने बताया है कि पूरे मामले की  जांच की जा रही है पुलिस की  भूमिका  अगर आरोपी के सहयोग में आती है तो उनपे भी कार्यवाई संभव है हत्या के मुख्य अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया है शेष की तलाश जारी है उन्हे भी गिरफ्तार कर लिया जावेगा। 

एसडीएम मनकापुर हीरालाल  ने किसान बीमा के तहत  आर्थिक सहायता दिलाने की बात कही है।

 वही घर के एकलौते वारिश की मौत पर उसकी  माँ और तीन बहनें जिसमें दो की शादी हो चुकी है एक अविवाहित है इनका रो रो के बुरा हाल है यह लोग मनकापुर कोतवाली पुलिस को सीधे रूप से दोषी ठहराते हुए कहती है कि हमारे लाल को पुलिस ने कमाऊ नीति के तहत छीन लिया है। अगर चाकु पुलिस पहले बरामद कर लिया होता तो आज हमारा लाल जिन्दा होता।      

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *