Lakhimpur- Kheri-News:डीएम ने की शासन की प्राथमिकता वाले विकास कार्यक्रमों की समीक्षा, दिए निर्देश

कार्यदायी संस्थाओं को डीएम ने लगाई कड़ी फटकार, बोले अपनी कार्यशैली में सुधार लाएं कार्यदायीं संस्थाएं
गुणवत्ता के साथ नियत समय में पूर्ण कराएं विकास कार्य : डीएम


बिजली के बकायेदार विभाग शीघ्र जमा कराएं अपना विद्युत बिल : डीएम

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी।   जिला अधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने शासन की प्राथमिकता वाले विकास कार्यक्रमों की बिंदुवार गहन समीक्षा कर संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान मुख्य रूप से मुख्य विकास अधिकारी अरविंद सिंह मौजूद रहे।


बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने कहा शासन की मंशा के अनुरूप विकास परक कार्यक्रमों, जन कल्याणकारी योजनाओं, लाभार्थीपरक कार्यक्रमों को समयबद्ध तरीके से पूरी पारदर्शिता व गुणवत्ता के साथ पूरा किया जाए। कार्यदायी संस्थाओं पर शिथिल नियंत्रण रखने वाले अधिकारियो पर भी कार्यवाही की जाय। लोक निर्माण विभाग द्वारा नई सड़कों का निर्माण किया जा रहा है या पुरानी सड़कों को गड्ढा मुक्त किया जा रहा है। इसमें गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए।

शारदा नगर-ढकेरवा मार्ग का जितना कार्य होना शेष है, इसे शीघ्र पूर्ण किया जाए। अधिशासी अभियंता ने अवगत कराया कि अभी जलभराव की समस्या होने के कारण कार्य पूर्ण नहीं हो पा रहा है। शीघ्र ही अवशेष कार्य को पूर्ण कर लिया जाएगा। सभी कार्यालयाध्यक्ष अपने-अपने विभागों से जुड़े कार्यों का अभिनव प्रयोग करने की कोशिश करें, ताकि शासन की मंशा के अनुरूप बेहतर कार्य जो अभिनव प्रयोग के रूप में मिलें, उन्हें योजनाओं में शामिल किया जाए। 
उन्होंने कहा कि जिन-जिन विभागों में बिजली बिल बकाया है। वह विभाग अपने उच्च स्तर से बजट की मांग करके बिजली बिल का शीघ्र भुगतान सुनिश्चित कराएं। सभी कार्य संस्थाएं अपने अपने आवंटित कार्यों को निर्धारित समय पर पूर्ण करें तथा संबंधित विभाग भी समय-समय पर इन कार्यो की प्रगति से अवगत कराएं।


जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी  राजेश कुमार सिंह ने बताया  कि जनपद में उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम की सीतापुर यूनिट को कुल छह कार्य स्वीकृत है। इन कार्यों की लागत 30.25 करोड़ है। किंतु संबंधित संस्था द्वारा कार्य में कोई प्रगति नहीं की जा रही है। इस पर डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने नाराजगी जताते हुए सख्त लहजे में शीघ्र ही निर्धारित अवधि में कार्य पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए। इसी संस्था द्वारा 13.51 करोड़ की लागत से दुधवा कॉरिडोर का निर्माण किया जाना है जिसका कार्य 31 दिसंबर 2020 तक पूर्ण होना है किंतु संस्था द्वारा इसमें कोई प्रगति नहीं की गई है।


मुख्य विकास अधिकारी अरविंद सिंह ने कहा कि शासन की प्राथमिकता वाले विकास कार्यक्रमों में गुणवत्ता पर किसी भी स्तर पर कोई समझौता न किया जाए एवं निर्धारित समय सीमा के अंदर विकास कार्य पूर्ण किए जाएं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं को समयबद्ध तरीके से मूर्तरूप दिया जाए।


जिला प्रोबेशन अधिकारी संजय निगम ने बताया कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का कार्य पुनः प्रारंभ हो गया है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि यह मुख्यमंत्री जी की महत्वाकांक्षी योजना है इस पर विशेष ध्यान दिया जाए।


जिला समाज कल्याण अधिकारी सुधांशु शेखर ने बताया कि छात्रवृत्ति हेतु आधार अपडेशन कार्य के लिए काफी भीड़ लग रही है। इस पर जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी को इस संबंध में सहयोग प्रदान करने के निर्देश दिए।
बैठक में डीएम ने विभागवार, बिंदुवार, योजनावार एवं मदवार समीक्षा की गई और संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।


बैठक में पीडी रामकृपाल चौधरी, डीडीओ अरविंद कुमार, डीएसटीओ राजेश कुमार सिंह, एक्सईएन पीडब्ल्यूडी देवेंद्र सिंह, एनके यादव, सहायक निदेशक सूचना रत्नेश त्रिपाठी सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *