Balrampur News:गैसड़ी क्षेत्र के एक गांव मेंं हुई गैंगरेप की घटना के छठे दिन एडीजी कानून व्यवस्था तथा एसीएस अवनीश अवस्थी ने पीडिता परिवार घर पहुंंच कर जाना हाल

अखिलेश्वर तिवारी

बलरामपुर ।जनपद बलरामपुर के कोतवाली गैसड़ी क्षेत्र के गांव मझौली में 22 वर्षीय छात्रा के साथ हुए गैंगरेप की घटना के छठवें दिन रविवार को उत्तर प्रदेश के एडीजी कानून व्यवस्था तथा एसीएस अवनीश अवस्थी बलरामपुर पहुंचे । तुलसीपुर के भवनियापुर हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर द्वारा पहुंचने के बाद स्टाफ कार द्वारा गैसड़ी क्षेत्र के मझौली गांव गए जहां पर गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की । पीड़ित परिवार के सभी समस्याओं को सुना और उन्हें त्वरित न्याय दिलाने का आश्वासन भी दिया ।

बलरामपुर के कोतवाली गैसड़ी कस्बे में 29 सितंबर को 22 वर्षीय छात्रा के साथ गैंग रेप की घटना को अंजाम दिया गया था । छात्रा के साथ दरिंदों ने दरिंदगी की सभी हदों को पार कर दिया था। गंभीर हालत में घर पहुंची निर्भया को परिजन आनन-फानन में स्थानीय चिकित्सालय ले गए, जहां से गंभीर हालत के कारण रेफर कर दिया गया और जिला चिकित्सालय ले जाते समय रास्ते में ही निर्भया जिंदगी की जंग हार गई ।

पीड़ित परिवार लगातार दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग कर रहा है। राजनीतिक पार्टियों के लोग राजनीति कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन कड़ी कार्यवाही करने की बात कर रहा है । पुलिस ने अभी तक दो नामजद आरोपियों सहित चार लोगों को गिरफ्तार भी किया है । अब तक हुई गिरफ्तारी से परिजन संतुष्ट नजर नहीं आ रहे हैं । परिजनों का कहना है कि अभी भी घटना में शामिल आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं, जिन्हें शीघ्र ही गिरफ्तार किया जाए।

इसी बीच रविवार को पीड़ित परिवार से मिलने एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार तथा एसीएस अवनीश अवस्थी पीड़िता के परिजनों से मिलने मझौली गांव पहुंचे। दोनों अधिकारियों ने पीड़िता के परिवारी जनों पिता, माता, भाई तथा भाभियों से मुलाकात की । उनकी बातों को सुना और सभी दोषियों को त्वरित कार्रवाई करा कर कड़ी सजा दिलाने का आश्वासन दिया । लाइव टुडे से वार्ता करते हुए अवनीश अवस्थी तथा प्रशांत कुमार ने कहा कि घटना काफी निंदनीय है। इसकी भर्त्सना जितनी भी की जाए कम है। दरिंदों ने दरिंदगी की हद पार की है। पीएम रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टि भी हो गई है और शरीर पर कई चोट के निशान भी पाए गए हैं। पीएम रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि अधिक इंटरनल ब्लीडिंग के कारण मौत हुई है।

पीड़िता के आंत तथा अन्य आंतरिक अंगों में गंभीर चोटें थी, जिसके कारण अधिक ब्लीडिंग हुआ और निर्भया की मौत हुई है । उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है। 4 आरोपियों की गिरफ्तारी अब तक हो चुकी है, उन्हें रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। यदि अन्य कोई शामिल पाया जाता है तो उसे गिरफ्तार किया जाएगा। किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। सभी आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *