Gonda News:गौ आश्रय की जगह टैग लगे गौ वंशो का सडकों पर रहता है कब्जा

सड़क पर मवेशियों का कब्जा, जरा सी भगदड़ से बड़ी घटना की बनी रहती है आशंका, प्रशासन मौन
प्रदीप  कुमार शुक्ला
गोण्डा। जिला मुख्यालय से उतरौला को जाने वाली मुख्य सड़क मार्ग के मध्य स्थित कस्बा धानेपुर क्षेत्र से तकरीब एक किलो मीटर पूर्व पावर हाउस तिराहे पर सौ की संख्या में मवेशियों का जमावड़ा रहता है, अक्सर बलिष्ठ साँड़ों के आपस में भिड़ने से यहां भगदड़ मचने का नज़ारा रोज शाम को देखने को मिलता है, जिससे स्थानीय दुकानदार अथवा ग्राहकों के जानमाल की हानि होने की प्रबल सम्भावना होने के साथ तेज रफ़्तार वाहनों से टकराने की घटनाएं भी होती रहीं हैं, इंसानों के बीच खूँखार साँड़ों व मवेशियों का इकट्ठा होना खतरे से खाली नही किन्तु यहां का स्थानीय प्रशासन इन पशुओं को आश्रय केंद्र पहुंचाने के लिए रूचि लेता दिखाई नही दे रहा है।
इस मार्ग परिक्षेत्र के दोनों तरफ कई मजरों के किसान इन मवेशियों के तांडव से परेशान हैं, जिनमे ग्राम सभा माधवगंज के परसादिक पुरवा, लालक पुरवा, सरयू पुरवा, सिंहपुर जोतिया बेलहरी इत्यादि मजरों के किसान रात रात भर जाग कर अपने फसलों की रखवाली करने को मजबूर हैं, इसके बावजूद दिन में मवेशी अपना पेट भरने के लिए खेतों की तरफ अपना रुख कर लेते हैं और शाम होते ही जैसे किसान रखवाली के लिए अपने खेत में पहुंचते हैं ये सभी मवेशी सड़क पर इकट्ठा हो जाते हैं ये सिलसिला कई महीनों से चलता आ रहा है किन्तु इस बड़ी समस्या से किसानों व क्षेत्रीय लोगों को छुटकारा  दिलाये जाने के विषय पर यहां के स्थानीय जन प्रतिनिधि अथवा खण्ड विकास अधिकारी अपनी आँखें मूँद कर बैठे हैं।
जैसा की पूर्व सरकारी आदेशों में कहा गया था की जो पशु पालक अपने मवेशी को सड़क पर ला कर छोड़ देते हैं उन पर एफ.आई.आर दर्ज किया जाएगा पशु पालक की पहचान का पता लगाने के लिए पशुओं की टैंगिंग भी पशु पालन विभाग द्वारा कराया गया था, किन्तु आज सड़क पर घूमने वाले हर तीसरे मवेशी के कान में टैग लगे होने के बावजूद ना तो पशु पालकों का पता लगाया जाता है ना ही उन पर कार्यवाही तय हो पा रही है।
इसी का खामियाजा है की आश्रय केंद्रों से अधिक मवेशी आज सड़कों पर अपना कब्जा जमाये हुए हैं जिन्हें ना तो आश्रय केंद्र भिजवाने की ब्यवस्था सुनिश्चित कराई जा रही और ना केंद्र की ब्यवस्था सफल होती दिखाई दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *