Gonda News:घाघरा का तांडव जारी भिखारीपुर सकरौरा तटबंध में दरार एक मीटर तटबंध नदी में समाया बाँध को बचाने का प्रयास जारी

घाघरा के पानी से ऐलीपरसौली में भारी तबाही 35मजरे पानी से घिरे कटान के चलते छःमकान नदी में समाये 

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा।तरबगंज तहसील के  ऐलीपरसौली में घाघरा का जलस्तर बढने से  तांडव  जारी है भिखारीपुर सकरौरा बांध का लगभग 1 मीटर हिस्सा नदी में समा गया वहीं ऐलीपरसौली गढी जबरनगर परास सहित आधा दर्जन गांवों के सैकड़ों मजरे बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं ऐलीपरसौली में शुरू हुई कटान से  छह लोगों के आशियाने नदी में समा गए शुक्रवार की रात ऐलीपरसौली में भिखारीपुर सकरौरा पर अचानक शुरू हुई कटान थमने का नाम नहीं ले रही है।बाँध कटते-कटते बचा था लेकिन अब एक बार फिर कटने के कगार पर है रविवार को सुबह अचानक मसीना लगने से बांध में दरार पड़ गई और लगभग 1 मीटर हिस्सा नदी में समा गया यहां बचाव कार्य कराया जा रहा है लेकिन इससे ग्रामीण संतुष्ट नहीं दिखे बांध में दरार पढ़ते ही क्षेत्र में हड़कंप मच गया और लोग अपनी गृहस्थीयों को समेटने में जुट गए हैं वहीं दूसरी तरफ बाढ़ का पानी लोगों पर सितम ढा रहा है घरों में घुसा पानी लोगों को घर से बेघर कर चुका है और जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो चुका है कटान पीड़ितों को नाव के सहारे सुरक्षित स्थान पर ग्रामीणों की मदद से निकाला जा रहा है लेकिन प्रशासन की तरफ से कोई सहायता नहीं पहुंचाई जा रही है ।

यह लोग अब जाएं तो कहां जाएं बांध पर शरण लेने के लिए मजबूर हैं ऐलीपरसौली के 35 मजरे पूरी तरह से बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं और पानी लोगों के घरों में घुस गया है सैकड़ों हेक्टेयर फसल भी बर्बाद हो चुकी है ग्रामवासी संजय सिंह ने बताया कि देशराज यादव का प्रधानमंत्री आवास  विंध्या यादव लैलू निषाद कुटकुर लालदेव मंगल का घर नदी में कट गया प्रशासन की तरफ से लोगों के कोई सहायता नहीं पहुंचाई गई है घाघरा ने ऐली परसोली में पूरी तरह से तबाही मचा दी है।

तरबगंज के नवाबगंज में भी सरयू नदी के बाढ़ का पानी कई गांवों में मचा रहा है तबाही 


 शनिवार तक क्षेत्र के करीब एक दर्जन गाँव के सैकड़ों मजरे बाढ़ का पानी दस्तक दे चुका है। सरयू के इस रौद्र रूप को देख कर माझा वासियों की सांसे थम सी गई है। मुख्य सड़क से गाँव में जाने वाली सड़के  तरह पानी में समाहित हो गई ।लोगों को आने जाने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है ।फसले पूरी तरह पानी में डूब चुकी हैं। हर जगह पानी भरा होने से मवेशियों के चारे का संकट उत्पन्न हो गया है । गाँव वालों का कहना है कि अगर एक दो दिनों में नदी के जलस्तर में गिरावट नहीं हुई तो हम अपने मवेशियों के किसी स्थान पर जाने के लिए मजबूर होंगे। केंद्रीय जल आयोग अयोध्या की माने तो वर्तमान में सरयू नदी का जलस्तर 93.42 पर पहुँच गया है जो कि खतरे के निशान से करीब 69 सेमी ऊपर है । नदी एक सेमी प्रति घंटा की रफ़्तार से बढ़ रही है । क्षेत्र के दत्तनगर, साखी पुर, गोकुला, तुलसीपुर, जैतपुर, माझाराठ, दुल्लापुर, दुर्गागंज, तुर्कौली, महेशपुर, व्यौदा माझा गाँव के अधिकतर मजरे बाढ़ के पानी से घिर चुके हैं ।रविवार की सुबह एसडीएम राजेश कुमार ने बाढ़ से प्रभावित गांवों का दौरा किया । उन्होंने बताया कि सभी बाढ़ चौकियों को सक्रिय कर दिया गया है। माझा वासियों की परेशानियों को देखते हुए क्षेत्र ग्यारह नाव की व्यवस्था तत्काल कर दी गई है और नावों की व्यवस्था की जा रही है ।प्रशासन बाढ़ की हर स्थित से निपटने के लिए तैयार है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *