Gonda Colonelganj News:विवेकानंद विद्यालय में सरस्वती साहित्य समिति के तत्वाधान में एक होली मिलन समारोह एवं काव्य गोष्ठी का आयोजन

एसपी सिंह / ज्ञान प्रकाश मिश्रा

करनैलगंज(गोंडा)। करनैलगंज नगर के विवेकानंद विद्यालय में सरस्वती साहित्य समिति के तत्वाधान में एक होली मिलन समारोह एवं काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता कन्हैया लाल इंटर कॉलेज के पूर्व प्रवक्ता गणेश प्रसाद तिवारी नेश ने की और संचालन राम कुमार मिश्रा कुमार ने किया। कार्यक्रम का शुभारंभ कवि जयदीप सिंह सरल के वाणी वंदना से हुआ और उसके बाद कवियों ने अपनी अपनी रचनाएं प्रस्तुत की। कवि अवध राज वर्मा करुण ने पढ़ा- अपनों से दूरी की रुचि बढ़ी है यहां, रिश्ते संबंधों की शुचि घटी है यहां। फरिश्ता धरा पर वह कब आएगा, आग जो है लगी कब बुझेगी यहां।
कवि राम कृष्ण लाल ने पढ़ा- बाग बगीचे देखाय परें नही, हेराय गए सगरो अमराई। कोयल कूक सुनाई परे नही, फूलन गन्ध सुगन्ध न आई।
कवि जयदीप सिंह सरस गोंडवी ने पढ़ा- मिलें हंसकर गले हम और बांटें प्यार होली में, भुला दें आपसी हर द्वंद हर तकरार होली में।
कवि वीरेंद्र विक्रम तिवारी वीरेंद्र बेतूल ने पढ़ा हमरा ई वतन बड़ा प्यारा, सगरो दुनिया से है न्यारा यह देश हमारा। उत्तर हिमालय मुकुट जस होई, दक्षिण में सागर चरण रहा धोई अरुणाचल बाहु विस्तारा, दुनिया से न्यारा यह देश हमारा।
कवि गणेश प्रसाद तिवारी नेश ने पढ़ा- यह लाल लाल तेरी चुनर एक दिन माथे से सरकेगी, आंखों की अनमोल लड़ी तब आंसू बनकर छलकेगी।
कवि राम कुमार मिश्रा कुमार ने पढ़ा- जा रंग ते धरती या रंगी, आकाश रंगा रचना यह सारी, सिद्ध रंगे औ मुनीश रंगे, कुमार रंगे हैं तपोब्रता धारी।
इसके साथ-साथ कवि भगवान बक्स सिंह रत्न ने अपनी रचना से श्रोताओं को भावविभोर कर दिया। इस गोष्ठी में तमाम कवियों ने अपनी अपनी रचनाएं प्रस्तुत की। तथा कार्यक्रम में भीम, मनीष, हीरालाल, विकास, रामसभा, रामदीन कश्यप, दिनेश कुमार कश्यप, दयाशंकर प्रजापति आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *