Lakhimpur Kheri News:खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री टेनी को राहत एफआईआर नही होगी

लखीमपुर खीरी हिंसा मामला 
                     
केंद्रीय गृह राज्यमंत्री टेनी को राहत एफआईआर नही होगी
एसआइटी ने  पहले दिन से ही गाड़ी से कुचल कर पत्रकार की मौत मानी है
सुप्रीम कोर्ट को भेजी स्टेटस रिपोर्ट में भी है जिक्र: सीजेएम
एन.के.मिश्रा
लखीमपुर खीरी। लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए पत्रकार स्व रमन कश्यप के भाई पवन कश्यप पुत्र राम दुलारे निवासी निघासन जिला खीरी ने धारा 156(3) में केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी सहित 14 लोगो पर हत्या सहित अन्य धाराओं में एफआईआर करने का प्रार्थनापत्र सीजेएम कोर्ट में 9 नवम्बर को प्रस्तुत किया था।
पेशी के बाद सीजेएम ने आदेश दिया कि किसी नई एफआईआर की मांग मानी नही जा सकती । मंत्री को इस आदेश से राहत मिली है। कश्यप के वकील ने आज मिले आदेश का हवाला देते हुए विस्तृत जानकारी दी। वकील मो ख्वाजा ने बताया कि एफआईआर 219 /21 की विवेचना में पहले दिन से जांच एजेंसी मान रही है कि पवन कश्यप की  मौत गाड़ी से कुचलने के कारण हुई है।
एसआइटी ने सुप्रीम कोर्ट में प्रस्तुत स्टेटस रिपोर्ट में भी इस तथ्य का स्पष्ट उल्लेख किया है। स्व पवन कश्यप के पिता व अन्य के बयान भी इस संदर्भ में एसआईटी ने दर्ज किये है। पवन के भाई ने प्रार्थनापत्र में कहा है कि मंत्री की कार को 80 से 100 किलोमीटर की  स्पीड में लाकर पत्रकार को कुचला गया था । शव टायर में फंस गया था जिससे थार रुक गयी थी। सीजेएम ने आदेश में लिखा है कि इस स्थित में नई एफआईआर दर्ज नही की जा सकती है। सीजेएम ने प्रार्थनापत्र में  की गयी मांग को रद्द कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *