Lakhimpur Kheri News:हांथी दांत साबित हो रही नगर पंचायत में बनी गौशाला

एन.के.मिश्रा

सिंगाही, लखीमपुर खीरी।आवारा पशुओं से किसानों को छुटकारा देने के लिए बनाया गया अस्थायी गौवंश आश्रय स्थल महज हाथी दांत साबित हो रहा है। किसानों के खेतों में आए दिन कहर बनकर मवेशी टूटते हैं लेकिन जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। इससे किसान परेशान हैं  मगर, अफसर इन सबको धता-बताकर पूरे सिस्टम को पलीता लगाने में लगे हैं।नगर पंचायत से सटी के ग्राम पंचायत भेरौड़ा चखरा जाने वाली रोड पर नगर पंचायत द्वारा लाखों रुपये की लागत से बनी अस्थायी गौवंश आश्रय स्थल का निर्माण कराया गया है।

गौशाला निर्माण शुरू होने से लोगों में उम्मीद बंधी थी कि छुट्टा मवेशियों से छुटकारा मिलेगा। खेतों को तार से घेरने के अतिरिक्त खर्चे से बच जाएंगे और दुर्घटना में आए दिन मर रहे मवेशियों को भी आसरा मिल जाएगा। लेकिन लोगों की इन उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है। लगभग पांच माह पहले ही गोशाला निर्माण पूरा हो चुका है किन्तु अब तक एक भी मवेशी को उसमें नहीं रखा गया है। कस्बेवासियों ने बताया कि गौशाला में मवेशियों को न रखने पर मवेशी खेत में लगी फसलों पर कहर बरपा रहे हैं।

दिन और रात किसानों खेत में ही डटे रहकर फसलों की रखवाली करनी पड़ती है। इससे किसानों का जीना हराम हो रहा है। न तो किसान सकून से खा सकता है और न ही रात में सो सकता है। रात में भी खेतों की रखवाली करने के लिए खेत की मेढ़ों पर बैठे रहना पड़ता है। वहीं कई किसानों ने तो हजारों की लागत से लोहे के तार से खेत को घेर रखा है जिससे फसलों को बचाया जा सके। इस मामले में उपजिलाधिकारी ओपी गुप्ता ने बताया कि रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है हम पुन: स्वयं जांच कर गौशाला की कार्रवाई को यथाशीघ्र पूर्ण करेंगे जिससे कि जल्दी से जल्द गौशाला चालू की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *