Gonda News:डाक्टर पर हमलावर मार पीट कर सरकारी कार्य मे बाधा डालने वाले नामजद दो अभियुक्त गिरफ्तार

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा। सीएचसी बभनजोत के एक एएनएम के द्वारा कोविड 19 टीकाकरण में डियूटी लगाये जाने से नाराज होकर अपने परिजनों सहित अधीक्षक पर हमला बोला था जिसके समबन्ध में पुलिस ने दो हमलावरों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
बताते चले कि सीएचसी अधीक्षक बभनजोत डाक्टर तरुण मौर्या द्वारा मंगलवार को थाना छपिया में दिए हुए प्रार्थना पत्र में बताया है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बभनजोत में तैनात एएनएम उर्मिला पांडे की खम्हरिया गांव में कोविड-19 टीकाकरण के लिए डियूटी लगाई गयी थी। ड्यूटी पर ना पहुंचने का कारण उनके पति अर्जुन पांडे जो अस्पताल में बीएचडब्ल्यू के पद पर तैनात हैं के मोबाइल पर फोन करके ना पहुंचने का कारण अधीक्षक।पूछा उसके थोड़ी देर बाद एएनएम उर्मिला पांडे का मेरे मोबाइल पर फोन आया और अपशब्द का प्रयोग किया और अभी आकर तुम्हारी पिटाई करूंगी और कोविड-19 की ड्यूटी नहीं करूंगी । दोपहर करीब 2:00 बजे जब मैं अपने केबिन में बैठा था उसी समय उर्मिला पांडे के पुत्र आलोक कुमार पांडे सहयोगी आशीष कुमार तिवारी पति अर्जुन पांडे आकर मुझे भद्दी भद्दी गालियां देने लगे जब मैंने कहा यह बात ठीक नहीं है। तब हमको सभी लोग मिलकर मारने पीटने लगे मेरे शोर करने पर अस्पताल के कर्मचारी मुझे बचाने के लिए दौड़े तब सभी लोग जान से मारने की धमकी देकर चले गए । उक्त विपक्षी राजकीय कार्य, कोरोना महामारी के संकट की घड़ी में अस्पताल के चिकित्सा कार्य को भी बाधित किए हैं।उक्त समबन्ध मे सीएचसी अधीक्षक ने छपिया थाने में चार लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया था।
जिसको लेकर पुलिस ने नामजद अभियुक्त एएनएम के पुत्र आलोक कुमार पाण्डेय व आशीष कुमार तिवारी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि एएनएम तथा उसका पति फरार चल रहा है।
मसकनवां चौकी प्रभारी अरुण कुमार राय ने बताया है कि गिरफ्तार दोनो अभियुक्तों को मसकनवां रेलवे स्टेशन से गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया गया शेष दो अभियुक्तों की तलाश जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *