Lakhimpur Kheri News:जनसूचना अधिकार को मजाक बनाने का आरोप

एन.के.मिश्रा
गोला गोकर्णनाथ (लखीमपुर-खीरी)। वर्तमान सरकार में जन सूचना अधिकार का भी अधिकारी मजाक बनाए हुए है। जिसका प्रमाण है कि विकास खण्ड कुम्भी के ग्राम पंचायत तेन्दुवाई के मजरा हयातपुर निवासी रोहित कुमार पुत्र ओमकार ने खण्डविकास अधिकारी/जनसूचना अधिकारी विकास खण्ड कुम्भी से छःसूचनाएं मांगी थी। जबकि जवाब में ग्राम पंचायत अधिकारी ललित वर्मा ने एक पत्र के माध्यम से लगभग पैतालिस सौ रु0 पृष्ठ का नौ हजार रु0 ग्राम निधि प्रथम के खाते में जमा करने को कहा है। जबकि आवेदक का आरोप है कि यह पत्र जनसूचना अधिकारी/ खण्ड विकास अधिकारी के द्वारा जारी करना चाहिए था।
विकास खण्ड कुम्भी के ग्राम पंचायत तेन्दुवाई के मजरा हयातपुर निवासी रोहित कुमार पुत्र ओमकार ने खण्डविकास अधिकारी/जनसूचना अधिकारी से छःबिन्दुओं की सूचनाएं मांगी थी जिसमें वर्ष 2016 के बाद से अब तक ग्राम निधि से कराए गए समस्त कार्यो की सूची उनके कार्यो के लिए किए गए प्रस्तावों की प्रतियां उनके कार्यो में व्यय की गई समस्त धनराशि का भी विवरण उपलब्ध कराया जाय। समस्त कार्यो के लिए क्रय की गयी सामग्री का भी विवरण उपलब्ध कराया जाए। समस्त कार्यो के लिए क्रय की गयी सामग्री के पक्के बिल भी उपलब्ध कराया जाय। ग्राम सभा में लगायी गयी सोलर लाईट क्रय हेतु की गयी समस्त कार्यवाही की प्रतियां कुल खर्च की गयी धनराशि व उसके लगाने के स्थान चयन की प्रक्रिया। सोलर लाइट की कुल गिनती व क्रय बिलों की प्रमाणित प्रतियां प्रदान करने। वर्ष 2016 से अब तक निर्माण किये गये आवासों की सूची/पात्र लाभार्थियों को आवास का लाभ देने का कारण सहित देने। ग्राम सभा में वर्ष 2016 से 2020 तक रोजगार गारन्टी योजना के तहत कच्चे एवं पक्के कार्यो के कराए जाने वाले समस्त कार्यो की सूची व व्यय धनराशि का विवरण। ग्राम सभा में वर्ष 2016 से 2020 तक कार्य करने वाले मजदूरों की कार्य दिवस सहित सूची व भुगतान बिल अथवा सम्बन्धित जो भी आधार है समस्त की प्रतियां उपलब्ध करायी जाय। इसी के साथ ग्राम पंचायत की माप पुस्तिका की आवश्यकता उपलब्ध कराने की मांग की थी। रोहित कुमार का आरोप है कि जब जनसूचना अधिकारी खण्ड विकास अधिकारी है जो ग्राम पंचायत अधिकारी ने पत्र लिखकर धनराशि ग्राम निधि प्रथम के खाते में जमा करने को क्यों कहा। रोहित कुमार ने यह भी खण्ड विकास अधिकारी से पूछा है कि क्या ग्राम पंचायत अधिकारी जनसूचना अधिकारी के पद पर तैनात है। आरोप है कि जनसूचना अधिकारी अपनी जिम्मेदारियों से बचते हुए पत्र ग्राम पंचायत अधिकारी के द्वारा प्रेषित करा रहे है। जबकि यह पत्र जनसूचना अधिकारी के द्वारा जारी किया जाना चाहिए था।
इस सम्बन्ध में खण्ड विकास अधिकारी से वार्ता नही हो पाई। पर सहायक खण्ड विकास अधिकारी पंचायत सरदार सिंह राना ने बताया कि जनसूचना अधिकारी खण्ड विकास अधिकारी ही होते है पर जनसूचना अधिकारी सम्बन्धित ग्राम पंचायत अधिकारी को मांगी गयी सूचनाओं का पत्र देकर जानकारी उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित करते है जिस पर ग्राम पंचायत अधिकारी एक पत्र के माध्यम से दो रु0 प्रति पृष्ठ के हिसाब से जमा करने के लिए आवेदक से अपील करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *