Gonda News:डीएम ने जर्जर स्कूलों के भवनों को शीघ्र ध्वस्तीकरण के दिए निर्देश

डीएम ने जर्जर स्कूलों के भवनों को शीघ्र ध्वस्तीकरण के दिए निर्देश

मानक विहीन भवन निर्माण में ग्राम प्रधानोेेे व प्रधानाध्यपकों की जवाबदेही तय

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा।जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों के जर्जर भवनों की नीलामी कराकर ध्वस्तीकरण की कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।उंन्होने कहा कि जिन विद्यालयों की नीलामी नहीं हुई है उनका मूल्यांकन कराकर एक सप्ताह के अन्दर नीलामी कराकर ध्वस्तीकरण की कार्यवाही की जाय।
कलक्ट्रेट सभागर में समीक्षा बैठक के दौरान बताया गया कि जिले में जांचोपरांत कुल 565 विद्यालय जर्जर पाए गए हैं जिनमें आयोजित 58 विद्यालयों के मुख्य भवन, 292 अतिरिक्त कक्षा कक्ष, 120 शौचालय तथा स्टोर रूम किचन व अन्य कक्ष शामिल हैं। जिलाधिकारी ने ब्लाकवार जर्जर भवनों की नीलामी व ध्वस्तीकरण की समीक्षा की तथा खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी जर्जर भवनों का सत्यापन तकनीकी टीम के साथ संयुक्त रूप से कर लें तथा ध्वस्तीकरण के लिए अवशेष जर्जर भवनों का मूल्यांकन पुनः कर लें। उन्होंने निर्देश दिए कि  तकनीकी टीम में लोक निर्माण विभाग, आरईडी तथा लघु सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ ही खण्ड शिक्षा अधिकारियों को भी शामिल किया जाय।
उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि ऐसे भवनों की सूची तैयार की जाए जिनका निर्माण कार्य अधोमानक पाया गया है अथवा समय सीमा से पहले भवन जर्जर स्थिति आ गए हैं उन अधोमानक भवनों के निर्माण के लिए जिम्मेदार ग्राम प्रधान व प्रधानाध्यापक की जिम्मेदार तय कराई जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *