Gonda News:हत्या के मामले में बारह साल से आजीवन कारावास की सजा काट रहे कैदी की जेल मेंं संदिग्ध परिस्थितियों मौत उच्चस्तरीय जांंच की मांंग

कैदी के परिजनों का आरोप पिटाई से हुई मौत

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा।आदर्श  जिला कारगार में हत्या के मामले में बारह साल से  आजीवन कारावास की सजा काट रहे कैदी की संदिग्ध परिस्थितियों में नहाते समय एका एक अचानक गिरने के बाद जिला अस्पताल पहुंचाया गया जहां डाक्टरों ने मृत्यु घोषित कर दिया है मृतक के परिजनों का आरोप है कि सर में चोट का निशान है ऐसे में पिटाई से मौत हुई है । 

बताते चले कि शनिवार को  गोण्डा आदर्श  जिला कारगार में शहर कोतवाली क्षेत्र के इलियास पुत्र अजीम निवासी तिवारी पुरवा को एक हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गयी थी। जिसके चलते उसे 28मार्च 2008को अदालत ने जेल भेज दिया था। 

शनिवार सुबह लगभग दस बजे  नहाते समय अचानक गिरने के बाद जेल में बंद कैदियों ने तत्काल सूचना दी की तत्काल जेल के सिपाही बाघेला मौके पर पहुंच एंबुलेंस से जिला अस्पताल पहुंचाया जहाँ पर डाक्टरों ने मृत्यु घोषित कर दिया। 

मृतक कैदी के पुत्र मोहम्मद अनवार खान का कहना है कि हमारे पिता बाहर साल से जेल में बन्द है लाक डाउन के चलते कोरोना काल में उनसे मुलाकात नही हुई है आज दिन में लगभग बारह बजे हमारे मोबाइल पर किसी ने फोन किया कि आप के पिता का मौत हो गयी उससे जानकारी करने पर बताया कि  जिला अस्पताल के मरचरी में शव रखा है मै काम पर अलग था काम छोड़कर परिजनो के साथ जिला अस्पताल पहुंचा तो हमारे पिता नग्न अवस्था में थे केवल शरीर पर अंडर बीयर था और सर में चोट का निशान है। शरीर से बदबू भी आ रही है। लाक डाउन में उनके द्वारा मोबाइल फोन पर बैरिक में दिक्कत की बात कर बैरिक बदलवाने की बात कही थी। यह भी बताया था कि नमाज़ पढने में भी दिक्कत हो रही है।कैदियों द्वारा उन्हे परेशान भी किया जाता था।

वही जिला अस्पताल में पहुंचें  मृतक के छोटे भाई इबरार ने बताया है कि हमारे भाई की बैरिक में  पीटकर हत्या कर दी गयी है।

जेल अधीक्षक शशिकांत सिंह ने बताया है  कि कैदी मोहम्मद  इलियास पुत्र मोहम्मद अजीम तिवारी पुरवा के निवासी था  थाना नगर कोतवाल गोंडा से  हत्या के मामले में मुलजिम था जो  आजीवन कारावास की सजा  काट रहा था नहाते समय गिरने पर  जिला अस्पताल भेजा गया था  डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर मौत का कारण पता चल पावेगा।

परिजनो ने मौत की उच्चस्तरीय जांंच कराये जांंने की मांंग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *