Gonda News:जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला पोषण समिति की बैठक सम्पन्न

अभियान चलाकर स्कूलों में बनेंगी पोषण वाटिकाएं, डीएम ने दिए निर्देश

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा ।अभियान चलाकर जनपद के ऐसे सभी प्राइमरी स्कूल जहां पर आंगनबाड़ी केन्द्र, बाउन्ड्रीवाल तथा आवश्यकतानुरूप जगह उपलब्ध है, उन सभी स्कूलों में पोषण वाटिका बनवाई जाय तथा इस कार्य में उद्यान विभाग का सहयोग लिया जाय। इसके अलावा पोषण मिशन के तहत गोद लिए गांवों में गोद लेने वाले अधिकारियों के जाने व पोषण की स्थिति की विस्तृत रिपोर्ट उन्हें उपलब्ध कराई जाय। यह निर्देश जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला पोषण समिति की बैठक में बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी व उद्यान विभाग के अधिकारियों को दिए हैं।
पोषण समिति की बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि जनपद के 753 अतिकुपोषित बच्चों को कुपोषण से मुक्त कराया गया है तथा 9243 बच्चों के स्वास्थ्य में क्रमिक सुधार हुुआ है। इसी प्रकार ग्राम्य विकास विभाग द्वारा 40548 कुपोषित एवं अतिकुपोषित/कुपोषित बच्चों के 9815 परिवारों को जाॅब कार्ड भी प्रदान करने का काम किया गया है। खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा कुुपोषित 33 हजार 891 बच्चों के परिवारों को निःशुल्क राशन मुुहैया कराया गया तथा 6657 बच्चों को राशन दिया जाना शेष है।
बैठक में गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य सुधार की समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ कि जिले में 22686 गर्भवती महिलाओं के सापेक्ष 891 एनीमिक महिलाओं मे से 495 गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार कराया गया है। इसी प्रकार पंचायतीराज विभाग द्वारा 20 हजार 914 कुपोषित परिवारों के लिए शौचालय बनवाने के साथ ही 2381 आंगनबाड़ी केन्द्रों पर शुद्ध पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है। वजन माप के लिए 3095 आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 3095 स्टेडियोमीटर, 3095 इंफेन्टोमीटर, 3095 इंफेन्ट वेईंग स्केल तथा 1935 के सापेक्ष 1160 मदर एण्ड चाईल्ड वेईंग स्केल की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई है।
बैठक में जिलाधिकारी ने पोषण वाटिका बनाए जाने के लिए बाउन्ड्रीवाल वाले स्कूलों की भी समीक्षा की। डीपीओ द्वारा बताया गया कि जिले में 1106 ऐसे स्कूल हैं, जहां पर बाउन्ड्रीवाल बनी हुई है जिनमें से 804 स्कूलों में आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित हैं। उन्होंने बताया कि 63 स्कूलों में पोषण वाटिका संचालित है। जबकि 580 स्कूलों में किचेन गार्डेन के लिए जमीन उपलब्ध है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि शीघ्र ही जमीन उपलब्धता वाले स्कूलों में किचने गार्डेन बनवाने का काम किया जाय।
आंगनवाड़ी केन्द्रों के निर्माण की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने आंगनबाड़ी केन्द्रों के निर्माण की प्रगति से रोजाना उन्हें अवगत कराने के निर्देश दिए तथा कार्यदाई संस्था आरईएस के अधिशासी अभियन्ता को सख्त निर्देश दिए कि शीघ्रातिशीघ्र जनपद में निर्माणाधीन आंगनबाड़ी केन्द्रों का निर्माण कार्य पूरा कराएं।
बैठक में नवागत मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अजय सिंह गौतम, जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी वी0के0 महान, डीडीओ रजत यादव, पीडी सेवाराम चाौधरी, पीओ डूडा विनोद सिंह, जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा0 इन्द्रजीत प्रजापति, जिला विद्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *