Gonda News:पंचायत भवनों एवं सामुदायिक शौचालयों के निर्माण एवं जिओ टैगिंग में गड़बड़ी पर डीएम ने डीपीआरओ को दिए आदेश

राम नरायन जायसवाल

 

गोण्डा। डीएम मार्कण्डेेय शाही ने विभिन्न ग्राम पंचातयतों में पंचायत भवनों के निर्माण में धांधली कर मानकविहीन निर्माण कराने के मामले में दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही के साथ ही वसूली के आदेश जारी किए हैं।
जिलाधिकारी ने विकासखण्ड परसपुर की ग्राम पंचायत नंदौर रेती, बेलसर- तरबगंज ब्लाक की ग्राम पंचायत विशुनपुर, मनकापुर ब्लाक की ग्राम पंचायत बनकसिया, कटरा बाजार गौरवाकला, कर्नलगंज ब्लाक की ग्राम पंचायत मुंडेरवा व ग्राम पंचायत जहंगिरवा, इटियाथोक ब्लाक की ग्राम पंचायत पृथ्वीपालगंज तथा वजीरगंज की ग्राम पंचायत डल्लापुर में पंचायत भवनों के निर्माण में गडबड़ी मिलने पर दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही के आदेश दिए हैं।
इस समबन्ध में जिलाधिकारी श्री शाही ने बताया कि परसपुर की ग्राम पंचायत नंदौर रेती में 16 अपै्रल को पंचायत भवन का निर्माण शुरू कराया गया था। इस पर उसी समय 10.99 लाख रूपये आहरित किए गए है, लेकिन अभी तक सिर्फ पंचायत भवन का पिलर ही लग सका है। नीव तक नहीं डाली गई और स्थल पर पानी भरा हुआ है। इसी प्रकार बेलसर तरबगंज ब्लाक की ग्राम पंचायत विशुनपुर में पैसा आहरित होने के बावजूद कायाकल्प नहीं हो सका रांगी, गौहानी में भी पंचायत भवन अधूरा है। जांच में यह भी यह भी पाया गया है कि मोतीगंज मनकापुर ब्लाक की ग्राम पंचायत बनकसिया में नींव डाली गई है। यहां घटिया सामग्री का प्रयोग किया गया है। मानक विहीन कार्य होने पर रोक दिया गया था जबकि भुगतान हो चुका है।
कटरा बाजार अन्तर्गत ग्राम गौरवाकला में 2.90 लाख आहरित हुए हैं। अब काम फिर शुरू कराया गया है। इसी प्रकार  भंभुआ- कर्नलगंज ब्लाक की ग्राम पंचायत मुंडेरवा में सचिवालय अधूरा है। ग्राम पंचायत जहंगिरवा में पंचायत भवन निर्माण में पीली ईंट के प्रयोग का मामला विभागीय अफसरों की जांच में सामने आ चुका है। इटियाथोक ब्लाक की ग्राम पंचायत पृथ्वीपालगंज के प्रधान विनोद कुमार जायसवाल ने बताया कि पूर्व प्रधान व सचिव ने पंचायत भवन का पैसा आहरित किया था। भवन अभी अधूरा है। जबकि ब्लाक वजीरगंज की ग्राम पंचायत डल्लापुर में 14 लाख रूपये खर्च होने के बावजूद भवन अधूरा है।
डीएम ने पंचायत भवनों का निर्माण कार्य पूर्ण कराकर इन्हंे क्रियाशील कराने व जिन कार्यों में अनियमितताओं की पुष्टि हुई है उनमें दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही सम्पादित करने तथा दुर्विनियोग की गई धनराशि की वसूली के सम्बन्ध में वसूली कर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं।
 वहीं जिलाधिकारी ने मण्डलीय कन्सलटेन्ट द्वारा जनपद के विकासखण्ड मनकापुर की ग्राम पंचायत वीरेपुर, हरना टायर, सिसवा कलेनिया, तामापार जगन्नाथुपर, बल्लीपुर एवं पेरीपोखर में निर्मित सामुदायिक शौचालयों में गड़बड़ी, जिओ टैगिंग न कराने वाले सचिवों के विरूद्ध कार्यवाही के आदेश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *