Gonda Mankapur News:डीएम के आदेश के बावजूद खाद्यान घोटाले में नही हुई कार्यवाही

बी.के.ओझा
गोण्डा। खाद्यान घोटाले में आरोपियों के खिलाफ डीएम के स्पष्ट निर्देश के दो वर्ष बीत जाने के बावजूद हो न तो एफआईआर दर्ज हुई और न ही सैकडो कुन्तल राशन की रिकबरी हो सकी।
  मामला ब्लाक मनकापुर की ग्राम पंचायत गुनौरा की सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान से जुडा है।जिसमे तत्कालीन कोटेदार आत्माराम चौबे पर अनियमितिता का आरोप था। आरोप हैं कि उक्त ग्राम पंचायत में कुल 386 पात्र गृहस्थी के राशन कार्ड बने थे जिसमें जांचोपरान्त मात्र 111 राशन कार्ड धारक ही पाये बाकी 275 कार्ड धारकों का कुछ अता पता नहीं चल सका। जिसकी शिकायत गांव के शिव प्रसाद पुत्र आदित्य प्रसाद निवासी गुनौरा ने सम्पूर्ण साक्ष्य के साथ जनता दर्शन में तत्कालीन डीएम कैप्टन प्रभाशुं  श्रीवास्तव से शिकायत किया। डीएम ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए ग्राम प्रधान, कोटेदार तथा पूर्ति निरीक्षक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराते हुए विस्तृत रिपोर्ट उपायुक्त खाद्य एवं रसद से तलब किया था। इसके बावजूद अभी तक न तो खाद्यान गबन के  बावत अभी तक कोई एफआईआर हुई और न ही सैकडो कुन्तल राशन की रिकबरी करायी गयी। काफी दिन बीत जाने पर जब इसको ठंडे बस्ते में डालकर कोटा बहाल किये जाने की गुपचुप तरीके से पैरवी होने लगी तो शिकायत कर्ता ने पुनः शपथपत्र के साथ,मुख्यमंत्री, मंडलायुक्त, डीएम , खाद्य उपायुक्त, एसडीएम को पत्र देकर उपरोक्त मामले मे कडी कार्यवाही कराने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *