Lakhimpur Kheri News:जिले के 07 विकास खंडों में आयोजित हुए किसान कल्याण मेला, गोष्टी व प्रदर्शनी

किसान कल्याण मिशन के तहत…*
*जिले के 07 विकास खंडों में आयोजित हुए किसान कल्याण मेला, गोष्टी व प्रदर्शनी*
*नकहा में अपर मुख्य सचिव-कृषि एवं अन्य 06 विकास खंडों में जनप्रतिनिधियों ने किया कार्यक्रम का शुभारंभ*
एन .के.मिश्रा
लखीमपुर खीरी । जिले के 07 विकास खंडों ( नकहा, बेहजम, रमियाबेहड़, बांकेगंज, पसगवां, ईशानगर व बिजुआ) में किसान कल्याण मिशन के तहत वृहद स्तर पर किसान कल्याण मेले एवं प्रदर्शनी का भव्य आयोजन हुआ।
विकास खंड नकहा में किसान कल्याण मेला एवं प्रदर्शनी का भव्य आयोजन हुआ। जिसका शुभारंभ अपर मुख्य सचिव कृषि डॉ. देवेश चतुर्वेदी, विधायक सदर योगेश वर्मा ने डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह व सीडीओ अरविंद सिंह की मौजूदगी में संयुक्त रूप से किया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अपर मुख्य सचिव कृषि डॉ देवेश चतुर्वेदी ने किसान कल्याण मिशन के तहत आयोजित  किसान कल्याण मेला एवं प्रदर्शनी के आयोजन की प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला। सरकार का प्रयास है कि इन कार्यक्रमों के माध्यम से कृषकों से संवाद कर उन्हें योजनाओं की जानकारी देकर जागरूक किया जाए। शासन-प्रशासन का पूरा प्रयास है कि योजनाओं का लाभ पूरी पारदर्शिता के साथ किसानों को मिले। इसके लिए किसानों के खातों में सीधे डीबीटी के माध्यम से धनराशि भेजी जा रही है। उन्होंने कहा कि किसानों की फसलों का उत्पादन बढ़ाने के साथ साथ आमदनी बढ़ाने के लिए आवश्यक है कि मृदा स्वास्थ्य कार्ड के आधार पर संतुलित मात्रा में खाद का प्रयोग हो। प्रदेश में यूरिया की कोई कमी नहीं है। गन्ने साथ अन्य सहफसली खेती, उन्नत कृषि तकनीकों सोलर, स्प्रिंकलर, ड्रिप आदि नवीन कृषि तकनीकों का प्रयोग किसान करें। उन्होंने मौजूद किसानों को जैविक, प्राकृतिक एवं गौ आधारित खेती के लिए प्रोत्साहित करते किसानों को संगठित होकर खेती करने की सलाह दी । सरकार किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के साथ ही 2022 तक उनकी आय दोगुनी करने के लिए कृत संकल्पित है। उन्होंने किसानों को सामूहिक खेती करने पर विशेष बल देते हुए कहा कि किसानों की आय बढ़ाने में कृषि उत्पादक संगठनों की बड़ी भूमिका है।
विधायक सदर योगेश वर्मा ने कहा कि जागरूकता के अभाव में किसान योजनाओं से वंचित ना रह जाए, इसके लिए सरकार इस तरह के जनकल्याणकारी कार्यक्रमों को क्रियान्वित कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों के चेहरे पर खुशहाली लाने एवं उन्हें समृद्ध बनाने के लिए सरकार नित नए कदम उठा रही हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे किसान जो किसी त्रुटि के कारण किसान सम्मान निधि का लाभ पाने से वंचित रह गए हैं। जल्द ही उनके समाधान हेतु शिविरों का आयोजन किया जाएगा। जिसमें उनकी त्रुटियों का समाधान कर उन्हें किसान सम्मान निधि से लाभान्वित किया जाएगा।
डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि किसान गन्ना, गेहूं, धान के अतिरिक्त अन्य फसलों के भी उत्पादन पर जोर दें। ताकि जमीन की उर्वरा शक्ति बनी रहे। सरकार ने कृषि, पशुपालन, गन्ना, उद्यान सहित अन्य कृषि सेक्टर्स में कई कल्याणकारी योजनाएं क्रियान्वित की जो किसानों के चतुर्दिक विकास हेतु कारगर साबित हो रही है। उन्होंने किसान कल्याण मिशन की प्रासंगिकता एवं उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि खीरी के किसान अपनी सूझबूझ, सरकारी योजनाओं से जुड़कर न केवल कृषि क्षेत्र में अपना लोहा मनवा रहे बल्कि अन्य किसानों के लिए प्रेरणा का स्रोत बन रहे हैं।
संयुक्त कृषि निदेशक लखनऊ मंडल वीके सिसोदिया ने कहा कि सरकार खेतों की मिट्टी का स्वास्थ्य सुधारने, सवारने व फसल का उत्पादन पोषक युक्त करने के लिए किसानों को विभिन्न योजनाओं के माध्यम से जागरूक कर रही है। उन्होंने कृषि यंत्रों पर मिलने वाली सब्सिडी के संबंध में योजनावार जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 10 हजार से कम के कृषि यंत्र पर मिलने वाले अनुदान को और अधिक सुगम बनाया गया। जिससे आसानी से छोटे काश्तकारों को भी कृषि यंत्र मुहैया हो सके।
कार्यक्रम के आरंभ में उप कृषि निदेशक डॉ योगेश प्रताप सिंह ने किसान कल्याण मेले के तहत आयोजित होने वाले प्रदर्शनी और गोष्ठी की प्रासंगिकता एवं रूपरेखा पर विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में उप निदेशक लखनऊ मंडल (भूमि संरक्षण) एसपी सिंह ने कृषि आधारित गतिविधियों व किसान कल्याण मिशन पर विस्तार से जानकारी देते हुए इंटीग्रेटेड फार्मिंग के लाभ बताएं। वही जिले में क्रियाशील एफ़पीओ (किसान उत्पादक संगठन) के संचालक विकास सिंह तोमर ने कम लागत में अधिक उत्पादन सहित संगठित खेती करने के संबंध में किसानों को टिप्स दिए। प्रगतिशील किसान यदुनंदन पुजारी ने केला पपीता स्ट्रॉबेरी गेंदा की खेती की व्यवसायिक जानकारी देते हुए प्रति एकड़ ढाई से तीन लाख धनराशि प्राप्त करने के टिप्स दिए। जैविक, प्राकृतिक एवं गो आधारित खेती के विषय में किसान मुरलीधर शर्मा ने विस्तार से जानकारी दी। प्रगतिशील किसान अनुराग अग्रवाल ने मशरूम खेती के टिप्स दिए। किसान विज्ञान केंद्र के कृषि वैज्ञानिक डॉ पीके विसेन ने विभिन्न फसलों एवं उनकी प्रजातियों में लगने वाले रोग एवं उनके रोकथाम के संबंध में जानकारी दी।
कार्यक्रम का सफल संचालन जिला कृषि अधिकारी सत्येंद्र प्रताप सिंह ने किया। इस दौरान उन्होंने किसान परक योजनाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन ब्लाक प्रमुख नकहा पवन गुप्ता ने किया। बताते चलें कि ब्लॉक परिसर बेहजम, रमियाबेहड़, बांकेगंज, पसगवां, ईशानगर व बिजुआ में जनप्रतिनिधियों ने किसान कल्याण मेले के तहत किसान मेले, गोष्ठी एवं प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। वहीं लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन कर कर विभागीय योजनाओं की जानकारी ली।
                           ◆◆◆◆◆◆
*इनकी रही मौजूदगी* : संयुक्त कृषि निदेशक (लखनऊ मंडल) वी. के. सिसोदिया, उप निदेशक (भूमि संरक्षण) लखनऊ मंडल एसपी सिंह, डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह, सीडीओ अरविंद सिंह, ब्लाक प्रमुख नकहा पवन गुप्ता, डीडी कृषि डॉ योगेश प्रताप सिंह, पीडी रामकृपाल चौधरी, अधीक्षण अभियंता विद्युत अरविंद सिंघल, एक्सईएन सिंचाई राजीव कुमार, एक्सईएन नलकूप शैलेंद्र यादव, सहायक निदेशक रेशम रामानंद मल्ल, सहायक अभियंता लघु सिंचाई कल्पना वर्मा, डीएसओ विजय प्रताप सिंह, डीसी-एनआरएलएम अजय प्रताप सिंह, जिला कृषि अधिकारी सत्येंद्र प्रताप सिंह, मंडल अध्यक्ष (भाजपा) संदीप मौर्य मौजूद रहे।
                              ◆◆◆◆◆
*इनको मिली योजनाओं की सौगात* :
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत 13 लाभार्थियों को स्प्रे मशीन, 07 लाभार्थियों को त्रिपाल, 08 लाभार्थियों को जिंक वितरण किया गया। विभिन्न परिस्थितिकीय संसाधनों द्वारा कीट एवं रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत 20 लाभार्थियों को ट्राइकोडरमा, 03 लाभार्थियों को प्राथमिक पौधशाला के अनुदान वितरण, 06 कृषकों को इंडियन बैंक द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड स्वीकृत पत्र वितरण, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा चार किशोरी बालिकाओं एवं पांच लाल श्रेणी के कुपोषित बच्चों को घी का वितरण किया। 05 अंत्योदय कार्ड धारकों को राशन किट का वितरण, 05 कृषकों को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) का स्वीकृत पत्र एवं 07 लाभार्थियों को सौभाग्य योजना के तहत निशुल्क विद्युत कनेक्शन का वितरण किया।
                              ◆◆◆◆◆
*जनप्रतिनिधियों ने किया कृषि प्रदर्शनी व मेले का अवलोकन*
ब्लॉक नकहा में विभिन्न विभागों द्वारा अपने स्टाल लगाकर किसानपरक योजनाओं एवं अन्य सरकारी योजनाओं का संदेश दिया। इस मेले में कृषि, गन्ना, रेशम, उद्यान, स्वयं सहायता समूह, पशुपालन,लघु सिंचाई, नलकूप, सौभाग्य योजना, एक जिला एक उत्पाद, पंचायती राज-स्वच्छ भारत मिशन, ग्राम्य विकास प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), गो आश्रय केंद्र परसा द्वारा वर्मी कंपोस्ट एवं अगरबत्ती उत्पादन शहद उत्पादन, नेडा, सहित अन्य विभागों ने स्टाल लगाकर विभागीय योजनाओं की जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *