Lakhimpur Kheri News:आठवें दिन भी जारी रहा किसानों का धरना

आठवें दिन भी जारी रहा किसानों का धरना
किसान बिना भुगतान कोई शर्त मानने को तैयार नहीं
एन.के.मिश्रा 
गोला गोकर्णनाथ (लखीमपुर खीरी)। बकाया गन्ना भुगतान को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा की पंचायत गन्ना तौल गेट पर आठवें दिन भी जारी रही। गन्ना किसान पंचायत को लेकर बजाज चीनी मिल गोला के किसानों एवं चीनी मिल के बीच बकाया भुगतान को लेकर असन्तोष व्याप्त है। गन्ना किसानों की मांग है कि पिछले वर्ष का बकाया भुगतान दो और इस वर्ष गन्ना पेराई करो, किन्तु इस बात से गन्ना मिल के किसान सन्तुष्ट नहीं हैं।
उनका कहना है कि हम प्रति सप्ताह दस करोड़ का भुगतान कर पाएंगे। इस तरह गन्ना मिल के ऊपर किसानों का कुल 274 करोड़ रुपया बकाया है जो कि  इस तरह भुगतान करने में अभी दो वर्ष लगेंगे जो कि सम्भव नहीं है। किसान भुगतान न होने की दशा में आत्महत्या जैसे कदम उठाने को मजबूर हैं। क्षेत्र के किसानों की गन्ना मुख्य फसल है, इसको लेकर संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा किसानों की मांग पर तय किया गया है की जब तक किसानों का बकाया भुगतान नहीं हो जाता तब तक किसानों का आंदोलन चलता रहेगा। धरने का नेतृत्व कर रहे किसान नेताओं का कहना है कि अब किसान अपना बकाया भुगतान लिए बिना धरने से उठने वाला नही है, संयुक्त किसान मोर्चा के पाधिकारियों ने कहा कि किसानों का जिलाधिकारी व गन्ना आयुक्त से अनुरोध है कि गन्ना भुगतान न करने की दशा में हमारे मिल क्षेत्र का गन्ना भुगतान करने वाली नजदीकी मिलों से जोड़ कर गन्ना खरीद कराई जाए, ताकि किसानों के गन्ने की बिक्री हो सके और भुगतान की समस्या न पैदा हो। अब किसान उक्त बजाज मिल को अपना गन्ना नहीं देने वाला।
      किसान पंचायत को सम्बोधित करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों द्वारा तय किया गया कि जब तक गन्ना भुगतान की मांग पर किसान सन्तुष्ट नहीं होंगे तब तक किसान मोर्चा कोई फैंसला नहीं लेगा। अग्रिम जो फैंसला होगा वह समस्त किसानों के बीच होगा। किसान नेताओं ने कहा कि यदि प्रशासन बिना भुगतान कराए किसानों के आंदोलन को जबरदस्ती खत्म करने की कोशिश करेगा तो सरकार व प्रशासन को गम्भीर परिणाम भुगतने होंगे।
    किसानों ने आरोप लगाते हुए कहा कि गन्ना भुगतान सहकारी समिति गोला व जिलाधिकारी लखीमपुर की बनाई गई समस्या है। इन अधिकारियों ने किसानों के साथ गन्ना भुगतान में धोखाधड़ी की है। इन लोगों पर भी अनेक धाराओं में मुकदमा दर्ज कर इन्हें जेल भेजा जाय। धरना प्रदर्शन होने के बावजूद समिति सचिव गोला द्वारा पर्ची जारी की जा रही हैं एवं सचिव चीनी मिल के आवास में रहकर मिल की सारी सुविधाएं भी ले रहे हैं। तभी वह खुलकर चीनी मिल का साथ दे रहे हैं ऐसे व्यक्ति का यहां से स्थानांतरण किया जाना किसानों के हित में अत्यंत आवश्यक है।
     धरने के आठवें दिन किसान पंचायत में राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन जिलाध्यक्ष श्रीकृष्ण वर्मा, अंजनी दीक्षित, अमनदीप सिंह संधू, राम निवास वर्मा, प्यारेलाल गौतम, राम सिंह वर्मा, विन्दर सिंह, सरदार बसन्त सिंह, गौरव तिवारी, रामनिवास शुक्ला सहित काफी संख्या में किसान मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *