Gonda Colonelganj News:कोरोना संक्रमण की दूसरी कहर में इस बार न तो समाजिक संगठनो का सरोकार है न तो शासन प्रशासन सब चुनाव में मशगूल ऐसे में चहुँ ओर तबाही ही तबाही

एसपी सिंह / ज्ञान प्रकाश मिश्रा

गोण्डा । कोई गरीबों को राशन बांट रहा है, तो कोई बाहर से आने वाले प्रवासियों को भोजन करा रहा है, कोई मास्क बांट रहा है, तो कोई अस्पतालों में कोरोना के शिकार लोगों की सहायता कर रहा है, यहां तक की कोरोना पर मृत लोगों के शवों को का अंतिम संस्कार कराने के साथ साथ कोरोना की लड़ाई में आगे आने वाले लोगों का सम्मान करने के लिए भी लोग काम करते नजर आए। मगर यह बीते दिनों की बात हो चुकी है। इस वर्ष कोरोना की भीषण लहर के दौरान पुलिस और प्रशासन की लचर व्यवस्था के साथ-साथ स्वयंसेवी एवं सामाजिक संगठन भी काम नहीं आ रहे हैं। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान मौजूदा समय में क्षेत्र में लोगों की सहायता करते हुए कोई भी सामाजिक या समाजसेवी संगठन नही दिखाई दे रहा है। जो कोरोना वारियर्स या कोरोना से बचाव की लड़ाई लड़ रहे लोगों का उत्साह बढ़ा सके। इस बार के कोरोना काल के दौरान पंचायत चुनाव पड़ जाने के कारण पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी चुनाव को सम्पन्न कराने, शांति व्यवस्था को कायम करने में मशगुल हैं तो सामाजिक संगठनो के लोग भी कोरोना के खौफ से दुबके नजर आ रहे हैं। विगत वर्ष में तमाम कोरेंटिंन सेंटर बनाये गए थे जहां लोगों के खाने, पीने, रहने, इलाज व दवाओं की व्यवस्था की गई थी तब तमाम सामाजिक संगठनों के लोग भी उनकी सहायता के लिए आगे आये और इस महामारी में लोगों का हौसला ही नही बढ़ाया बल्कि उनकी सहायता भी की। मगर इस बार कोरोना वारियर्स की हौसला अफजाई करने वाला कोई नही है। यह चर्चाओं में शामिल हो गया है। वहीं अब रमजान के पवित्र महीने में भी लोग किसी जरूरतमंद की मदद के लिए आगे नही बढ़ रहे हैं। हर कोई इस महामारी से सहमा नजर आ रहा है। जबकि सामाजिक सरोकार से जुड़े कार्य का सही वक्त यही है।

उपजिलाधिकारी शतुघ्न पाठक ने लोगों से अपील की है कि किसी के सम्पर्क में आये या उसको छुये बिना भी उसकी सहायता की जा सकती है। जरूरतमंदों के लिए लोगों के आगे आने की आवश्यकता है। प्रशासन हर मोड़ पर उनके साथ है। सामाजिक संगठनों के लोग इसके लिए पहल करें आवश्यकता पड़ने पर प्रशासन हर कदम पर उनके साथ रहेगा।

पुलिस उपाधीक्षक मुन्ना उपाध्याय कहते हैं कि सामाजिक सरोकार से जुड़े कार्य करने का यह अवसर लोगों को खोना नही चाहिए। बल्कि पीड़ितों की सहायता के लिए लोग आगे आएं। उन्होंने आह्वान किया कि सामाजिक संगठन इस महामारी को मात देने में अच्छी भूमिका अदा कर सकते हैं। बशर्तें इसके लिए आवाज उठाने व आगे आने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *