Lakhimpur- Kheri-News-खीरी पहुंचे कमिश्नर, एकीकृत कोविड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का किया निरीक्षण, दिए निर्देश

कंट्रोल कमांड एवं कंट्रोल सेंटर के सभागार में चिकित्सा अधिकारियों के संग की बैठककोविड की समस्त एक्टिविटी को पोर्टल पर नियमित अपडेट कराएं : कमिश्नर

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी । जिले के नोडल अधिकारी मंडलायुक्त लखनऊ मंडल लखनऊ मुकेश कुमार मेश्राम अपने निर्धारित भ्रमण कार्यक्रम के अनुसार जनपद लखीमपुर खीरी पहुंचे। जहां कलेक्ट्रेट स्थित लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन में डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह,एसपी सत्येंद्र कुमार एवं सीडीओ अरविंद सिंह ने उनके जनपद आगमन पर उनका स्वागत किया।सर्वप्रथम नोडल अधिकारी पुलिस लाइन के निकट स्थित एकीकृत कोविड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर पहुंचे। जहां उन्होंने कोविड हेल्प डेस्क पर अपना ऑक्सीजन लेवल एवं तापमान चेक कराया। ड्यूटी पर तैनात स्वास्थ्य कर्मचारी से कोविड हेल्प डेस्क के बारे में जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इसके उपरांत उन्होंने कमांड सेंटर में संक्रमित मरीजों की ट्रेसिंग कर रही टीम से जानकारी ली। उन्होंने कहा की ट्रेसिंग कर रही टीम संक्रमित मरीज की उम्र, उसे पहले से कोई बीमारी तो नहीं है घर में कितने कक्ष एवं शौचालय है सहित असिंप्टोमेटिक ऐसे मरीज जो होम आइसोलेशन में रहना चाहते हैं उनसे यह प्रत्येक दशा में पूछ ले कि उनकी देखभाल करने वाला प्रथक से कोई घर का सदस्य है अथवा नहीं। कंट्रोल रूम में कार्यरत कर्मियों से उन्होंने पूछा उनका क्या कार्य है जिस पर उन्होंने बताया कि वह होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमित मरीजों कि दिन-प्रतिदिन जानकारी संग्रहित करते हैं। होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमित मरीजों का एक व्हाट्सएप ग्रुप भी बना है जिसके माध्यम से उनकी पल्स एवं ऑक्सीजन लेवल की जानकारी ली जाती है। जिस पर नोडल अधिकारी ने निर्देश दिए कि उनसे वीडियो कॉल करते हुए अपने सम्मुख ही ऑक्सीजन लेवल एवं तापमान की सटीक जानकारी हासिल करें।इसके उपरांत नोडल अधिकारी ने कमांड सेंटर के सभागार में डीएम सीडीओ एवं चिकित्सा अधिकारियों के साथ एक बैठक की। आयोजित इस बैठक में उन्होंने अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से अपने सम्मुख सर्विलांस पोर्टल खुलवाया। इस दौरान उन्होंने रियल टाइम बेसिस जानकारी मांगी। उन्होंने कितने सैंपल भेजे गए हैं और किन-किन सोर्सेस से भेजे गए इसकी भी पोर्टल के माध्यम से जानकारी तलब की। नोडल अधिकारी ने कहा कि मास का प्रयोग एवं जन जागरूकता के लिए और अधिक प्रयास किए जाएं। फील्ड में आशा एवं आंगनवाड़ी को और अधिक एक्टिवेट किया जाए। उन्होंने डीएम को निर्देश दिए कि आशा उनके जो पद रिक्त हैं पूरी प्रक्रिया अपनाते हुए उन्हें भरा जाए साथ ही आशा के भुगतान में किसी प्रकार का विलंब ना हो। नोडल अधिकारी ने निर्देश दिए कि अपने कार्यों को पोर्टल पर अनिवार्य रूप से फीड कराएं। इसमें अन्य सरकारी महकमों के कंप्यूटर जानकारों की भी ड्यूटी लगाएं।उन्होंने लैब से पॉजिटिव आने से लेकर चिकित्सालय में भर्ती होने तक की प्रक्रिया के बारे में गहनता से जानकारी हासिल की। उन्होंने कहा कि सीएमओ प्रतिदिन पोर्टल की अपडेट कराएं। उन्होंने कांटेक्ट रेसिंग की अद्यतन स्थिति जानी ओर प्राइमरी एवं सेकेंडरी कांटेक्ट की सैंपल इन प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराने हेतु निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले सभी लोगों का प्रत्येक दशा में एंटीजन टेस्ट कराया जाए। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी मुख्य विकास अधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी दिन में दो बार रिव्यु करें। पॉजिटिविटी रिकवरी एवं डेथ रेट का साप्ताहिक रिव्यु करें। कंटेनमेंट जोन में डोर टू डोर सर्विलांस टीमें युद्ध स्तर पर सर्वे करें।  उन्होंने जिला सर्विलेंस अधिकारी से उनकी भूमिका एवं दायित्व के संबंध में जानकारी ली साथ ही सेंपलिंग कार्य योजना के संबंध में सीएमओ से जानकारी हासिल की। उन्होंने कहा कि पर हाई, लो रिस्क एवं प्राथमिक सेकेंडरी कॉन्टैक्ट की टेस्टिंग पर जोर दें।इस दौरान जिला अधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने कमिश्नर को जिले में कोविड के संबंध में अद्यतन जानकारी उपलब्ध कराई। डीएम ने कहा कि मंडलायुक्त द्वारा जो भी मार्गदर्शन एवं दिशा निर्देश दिए गए हैं उनका शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा।बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अरविंद सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ मनोज अग्रवाल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ आरसीअग्रवाल, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर आरपी दीक्षित, डॉ संतोष चक, डॉ रविंद्र शर्मा, डॉ अश्विनी, डॉक्टर बी सी पंत सहित अन्य चिकित्सा अधिकारी मौजूद रहे।Attachments area

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *