Lakhimpur Kheri News:किसानों का भुगतान नहीं, करोड़ों रुपए से बनाया नया बॉयलर

गन्ने के रस से इथेनॉल बनाने की चल रही तैयारी
एन.के.मिश्रा 
गोला गोकर्णनाथ (लखीमपुर खीरी)। स्थानीय बजाज हिंदुस्थान शुगर लिमिटेड चीनी मिल पर गन्ना किसानों का बीते पेराई सत्र का 273 करोड़ रुपए बकाया है। किसानों का भुगतान न कर चीनी मिल ने ईटीपी प्लांट के निकट करोड़ों रुपए की लागत से नया बॉयलर बनाया है अब गन्ने के रस से सीधे एथेनाल बनाने की योजना पर काम चल रहा है।
बजाज ग्रुप की इस नगर में वर्ष 1932 में जमुनालाल बजाज द्वारा स्थापित की गई पहली चीनी मिल की प्रतिदिन गन्ना पेराई क्षमता 130000 प्रति कुंतल है। चीनी मिल और डिस्टलरी चलाने के लिए पहले से चीनी मिल कैंपस में पर्याप्त बॉयलर बने हुए हैं। अब चीनी मिल गन्ने के रस से सीधे एथेनाल बनाने की तैयारी कर रही है, इसलिए ईटीपी प्लांट के पास लगभग 100 करोड रुपए की लागत से नया बॉयलर बनाया गया है। बॉयलर से कई पाइप लाइनें प्रशासन की अनुमति के बिना कुकरा रोड के ऊपर से चीनी मिल तक ले जाई गई हैं। इस समय पाइप लाइनों पर स्टील की प्लेट मढ़ाई का कार्य चल रहा है।
     चीनी मिल के विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि वैसे तो मिल के पास अपने सभी संयंत्र चलाने के लिए पर्याप्त बॉयलर हैं किंतु गन्ने के रस से सीधे एथेनाल बनाने के लिए नए बॉयलर की आवश्यकता है इसलिए इसका निर्माण किया गया है।मालूम हो कि चीनी मिल ने कुकरा रोड के ऊपर से पहले ही राखी, बैगास , प्रेसमड और ईटीपी प्लांट से गैस सप्लाई करने के लिए गैस पाइप लगा रखे हैं। जिनसे आवागमन करने वाले लोगों को हमेशा खतरा बना रहता है। अब बॉयलर से आने वाले गैस पाइप इसी रोड के ऊपर से बिना अनुमति के निकाल दिए गए हैं। किंतु प्रशासनिक अधिकारियों ने कार्यवाही तो दूर मिल को अब तक कोई नोटिस भी जारी नहीं की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *