Gonda News:जिले को दो कृषि कल्याण केन्द्र तथा दो गोदाम की मिली सौगात, प्रदेश के कृषि मंत्री तथा पूर्व कृषि मंत्री भारत सरकार ने किया लोकार्पण

किसानों के उत्थान व हितों के लिए प्रतिबद्ध है केन्द्र व प्रदेश की सरकार- राधा मोहन सिंह

योजनाओं का लाभ किसानों को सीधे देने का काम कर रही है सरकार- सूर्य प्रताप सिंह

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा ।प्रदेश व केन्द्र सरकार किसानों के उत्थान के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है। इसके लिए तमाम कल्याणकारी व विकासपरक योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है, इसके साथ ही सरकार की योजनाओं की जानकारी जन-जन तक पहुंचाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा कृषि मेला, गोष्ठी एवं प्रदर्शनियों का आयोजन प्रदेश के 825 ब्लाकों पर किया जा रहा है। किसानों के आर्थिक उन्नयन के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, कस्टम हायरिंग, फार्म मशीनरी बैंक तथा एफपीओ के माध्यम से कृषि यंत्रों पर अनुदान देने के साथ ही किसानों को उनकी उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना के तहत उचित मूल्य दिलाकर सरकार किसानों की आय बढ़ाने का काम कर रही है। यह विचार भारत सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री कृषि  राधा मोहन सिंह ने नवीन फल मण्डी में कृषि विभाग द्वारा अयोजित कृषि मेला एवं गोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किए।

 


मुख्य अतिथि  राधा मोहन सिंह तथा कृषि मंत्री  सूर्य प्रताप सिंह ने संयुक्त रूप से विकास खण्ड हलधरमऊ में विकास खण्ड हलधरमऊ व विकासखण्ड झंझरी में 85-85 लाख रूपए की लागत से बने कृषि कल्याण केन्द्र का तथा नवीन फल मण्डी में एक-एक हजार मीटरिक टन की क्षमता के दो गोदामोें का लोकार्पण किया। इसके बाद अतिथियों द्वारा फार्म मशीनरी बैंक योजना के 04 लाभार्थियों को अनुदान की 12-12 लाख रूपए की राशि का प्रमाणपत्र तथा 02 मिनी स्माल गोदाम के लाभार्थियों को 3.34-3.34 लाख रूपए के अनुुदान का प्रमाणपत्र दिया। इसके अलावा जिले के कई प्रगतिशील किसानों को भी कृषि क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर प्र्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्री सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि सरकार द्वारा किसानों के विकास के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना के तहत लगातार एमएसपी बढ़ाने का काम किया गया है। इसके अलावा ऋण में डूबे किसानों को कर्ज से उबारने के लिए अकेले गोण्डा जनपद के 97 हजार 729 किसानों का 641 करोड़ रूपए 99 लाख रूपए का केसीसी ऋण माफ किया गया है। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए संचालित योजनाएं धरातल पर लागू हों, इसके लिए सरकार द्वारा पारदर्शी व्यवस्था बनाई गई है, जिसका लाभ सीधे किसान भाइयों को मिल रहा है।


कार्यक्रम में प्रदेश के  कैबिनेट मंत्री कृषि, कृषि शिक्षा  सूर्य प्रताप शाही नेे कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा किसानों को डीबीटी के माध्यम से सीधेे लाभ देने का काम किया जा रहा तथा किसानों की आय को वर्ष 2022 तक दुगुना करने के लक्ष्य पर काम करते हुए भारत में कृषि बजट 14 हजार करोड़ से बढ़ाकर 01 लाख करोड़ से अधिक किया गया है। उन्होंने कहा कि जनपद गोण्डा में पूर्वी हरित क्रान्ति के विस्तार की योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन आॅन आॅयल सीड्स योजना तथा कृषि यंत्रीकरण योजना के अन्तर्गत वर्ष 2018-19 में 958 कृषि यंत्रों का वितरण किया जिसमें  06 करोड़ 27 लाख रूपए की लागत के 06 फार्म मशीनरी बैंक तथा 48 कस्टम हायरिंग सेन्टर दिए गए।  इसी प्रकार वर्ष 2019-20 में 685 कृषि यंत्रों का वितरण किया गया जिसमें 9 करोड़ 09 लाख रूपए की लागत से 09 फार्म मशीनरी बैंक तथा 67 कस्टम हायरिंग सेन्टर तथा वर्ष 2020-21 में अभी तक 02 करोड़ 97 लाख रूपए की लागत के 09 फार्म मशीनरी बैंक तथा 523 कृषि यंत्रों का अनुुदान दिया जा चुका हैं। उन्होंने बताया कि अब तक तीन वर्षों में 4332 कृषि यंत्रों पर जिले के किसानों को 36 करोड़ 70 लाख से अधिक धनराशि का अनुदान किसानों को दिया जा चुका है। इसके अलावा  किसानों को बीज व उर्वरकों पर अनुुदान देने का काम किया जा रहा है।

 


कार्यक्रम में  विधायक सदर  प्रतीक भूषण सिंह ने सरकार द्वारा कृषकों के उत्थान के लिए संचालित विभिन्न उन्नत तकनीकों के बारे में बताते हुए आहवान किया कि किसानभाई मेले, गोष्ठी व प्रदर्शनी में उन्नत तकनीकों के बारे में जानकारी हासिल करें तथा पारम्परिक खेती के बजाय तकनीकी खेती अपनाएं और अपनी आय को बढ़ाएं। जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही द्वारा सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

 


इस दौरान  विधायक कटरा  बावन सिंह, जिलाध्यक्ष सूर्य नरायन तिवारी, डीएम मार्कण्डेय शाही, एसपी शैलेश कुमार पाण्डेय, सीडीओ शशांक त्रिपाठी, संयुक्त कृषि निदेशक पीके गुप्ता, उपनिदेशक कृषि डा0 मुकुल तिवारी, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव सहित जनपद के मा0 जनप्रतिनिधिगण तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *