Gonda News:कार्यदाई संस्था यूपीसीएलडीएफ का स्पष्टीकरण तलब,कार्य छिपाने वाली कार्यदाई संस्थाओं पर होगी गैंगस्टर एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही- आयुक्त

आयुक्त ने की 50 लाख व उससे अधिक के अन्य निर्माण कार्यों की प्रगति की मंडलीय समीक्षा

कार्य छिपाने वाली कार्यदाई संस्थाओं पर होगी गैंगस्टर एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही- आयुक्त
आवंटित धन व्यय न करने पर कार्यदाई संस्था यूपीसीएलडीएफ का स्पष्टीकरण तलब।
सीएनडीएस के कार्यों की मंडलीय टास्क फोर्स से कराई जाएगी जांच।

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा ।आयुक्त, देवीपाटन मंडल एसवीएस रंगाराव ने आज आयुक्त सभागार में सड़कों को छोड़कर रुपए 50 लाख एवं उससे अधिक लागत के अन्य निर्माण कार्यों की मंडलीय समीक्षा बैठक के दौरान कार्यदाई संस्थाओं को निर्देशित किया है कि वे निर्माण कार्यों में तेजी लाकर शेष निर्माण कार्यों को गुणवत्तापूर्ण ढंग से शीघ्र पूर्ण कराएं। जिन परियोजनाओं में धन अवमुक्त होना है उसमें धनराशि अवमुक्त कराने की कार्रवाई भी शीघ्र की जाए। समीक्षा बैठक में कार्यदाई संस्था यूपी सीएलडीएफ द्वारा कुछ परियोजनाओं के संबंध में सूचना छिपाने पर आयुक्त ने नाराजगी व्यक्त करते हुए स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जिन कार्यदाई संस्थाओं द्वारा कार्य छुपाया जाएगा उनके विरूद्ध गैंगेस्टर एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने जनपद बलरामपुर में तुलसीपुर क्षेत्र के अंतर्गत भंगहा व रेहरा पाइप पेयजल योजना में धन प्राप्त हो जाने के बाद भी धनराशि न व्यय करने पर भी कार्यदाई संस्था यूपीसीएलडीएफ से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए हैं।

 

आयुक्त ने समीक्षा बैठक के दौरान जनपद बलरामपुर के राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, उतरौला में धन जमा करने के बाद भी विद्युतीकरण न होने तथा मंडल के कुल 43 नलकूपों में विद्युत कार्य शेष होने पर विद्युत विभाग को निर्देशित किया है कि वे एक सप्ताह के भीतर विद्युतीकरण कार्य संपन्न कराकर उन्हें आगामी 12 फरवरी तक अवगत कराया जाए। आयुक्त ने अल्पसंख्यक विभाग से संबंधित एमएसडीएफ योजना के अंतर्गत सीएनडीएस द्वारा कराए गए कार्यों की मंडलीय टाक्सफोर्स से जांच कराने के भी निर्देश दिए हैं। आयुक्त द्वारा गत महीनों लगातार की जा रही मंडलीय समीक्षा बैठकों से निर्माण कार्यों को विशेष प्रगति मिली है।
बैठक में बताया गया कि सड़कों को छोड़कर 50 लाख से अधिक लागत के अन्य निर्माण कार्यों की मंडल में कुल 435 परियोजनाओं में से 90 परियोजनाओं का कार्य पूर्ण हो चुका है एवं 239 परियोजनाओं में 70 प्रतिशत से अधिक की भौतिक प्रगति हुई है। मंडल की 24 परियोजनाएं संबंधित विभागों को हस्तांतरित की जा चुकी हैं तथा छ: परियोजनाएं अनारंभ की स्थिति में है। जिसे शीघ्र शुरू कराने हेतु आयुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है। बैठक में कार्यदाई संस्था पैक्सफेड/पैकफेड/यूपी आर एन एस एस, सीएलडीएफ, सीएनडीएस, आवास विकास परिषद, उत्तर प्रदेश प्रोजेक्ट कारपोरेशन लिमिटेड, पुलिस आवास निगम, ग्रामीण अभियंत्रण, यूपी सिडको, विद्युत विभाग तथा जल निगम आदि की परियोजनाओं की प्रगति की गहन समीक्षा की गई।

मंडल में कार्यदायी संस्था पैक्सफेड/ यूपीआरएनएसएस/ पैकफेड द्वारा कुल 41 परियोजनाओं का कार्य किया जा रहा है जिसमें 13 परियोजनाएं पूर्ण हो गई हैं और 8 परियोजनाओं पर 70 प्रतिशत से अधिक भौतिक प्रगति हुई है। कार्यदाई संस्था सीएलडीएफ द्वारा 18 परियोजनाओं में 2 परियोजनाएं पूर्ण भी की जा चुकी है तथा दो परियोजनाओं पर 70% से अधिक भौतिक प्रगति हुई है। कार्यदाई संस्था सीएनडीएस की 37 परियोजनाओं में एक परियोजना पूर्ण हुई है तथा 17 परियोजनाओं पर भौतिक प्रगति 70 प्रतिशत से अधिक है। कार्यदाई संस्था आवास विकास की 15 परियोजनाओं में 6 परियोजना पूर्ण हो चुकी है तथा 4 परियोजनाओं की भौतिक प्रगति 70 प्रतिशत से अधिक है। यूपी प्रोजेक्ट कारपोरेशन द्वारा 23 परियोजनाओं में पांच परियोजना पूर्ण की जा चुकी है तथा 5 पर 70 प्रतिशत से अधिक की भौतिक प्रगति हुई है। मंडल में कार्यदाई संस्था ग्रामीण अभियंत्रण द्वारा 28 परियोजनाओं पर कार्य कराया जा रहा है, जिसमें 7 पूर्ण हो चुकी है तथा 9 परियोजनाओं की भौतिक प्रगति 70 प्रतिशत से अधिक है।

इसी प्रकार यूपी सिडको द्वारा 28 परियोजनाओं में 11 पूर्ण की जा चुकी है तथा 8 परियोजनाओं पर 70 प्रतिशत से अधिक की भौतिक प्रगति हुई है। विद्युत विभाग द्वारा 4 परियोजनाओं में से एक परियोजना पूर्ण की जा चुकी है तथा एक पर 70 प्रतिशत से अधिक की भौतिक प्रगति है। कार्यदाई संस्था जल निगम द्वारा 155 परियोजनाओं में 39 पूर्ण की जा चुकी है तथा 58 परियोजनाओं की भौतिक प्रगति 70 प्रतिशत से अधिक है। आयुक्त ने कार्यों में तेजी लाकर गुणवत्ता पूर्ण ढंग से शीघ्र से शीघ्र शेष परियोजनाओं को पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।

आयुक्त ने कार्यदाई संस्था सीएलडीएफ द्वारा जनपद बहराइच में चित्तौरा, कैसरगंज, हुजूरपुर तथा बलहा विकासखंड की कुल 9 पेयजल योजनाओं की प्रगति की सूचना मंडलीय समीक्षा बैठक में न दिए जाने तथा योजनाओं को छिपाने के लिए कार्यदाई संस्था से स्पष्टीकरण प्राप्त कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

 


इस अवसर पर संयुक्त विकास आयुक्त  वीरेंद्र प्रसाद पांडे ,उप निदेशक सांख्यिकी  आर के मिश्रा ,संयुक्त कृषि निदेशक डॉ० पी के गुप्ता ,उप निदेशक समाज कल्याण  जीतेंद्र ,अल्पसंख्यक कल्याण  एस के पांडे सहित कार्यदाई संस्थाओं के अधीक्षण अभियंता व अधिशासी अभियंता सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *