Lakhimpur Kheri News:05 लाभार्थियों को टूल किट, 04 लाभार्थियों को बांटे ऋण स्वीकृत पत्र

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी। गुरुवार को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा प्रदेश स्तरीय ऑनलाइन लोन मेला एवं टूल किट वितरण का वर्चुअल कार्यक्रम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में आयोजित हुआ।

ऑनलाइन लोन मेला एवं टूल किट वितरण कार्यक्रम का जनपद स्तर से जिला सूचना एवं विज्ञान केंद्र (एनआईसी) के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कक्ष के माध्यम से डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह, सीडीओ अरविंद सिंह, अग्रणी जिला प्रबंधक इंडियन बैंक जितेंद्र नाथ श्रीवास्तव, उपायुक्त उद्योग संजय सिंह जिले के लाभार्थियों सहित जुड़े।ऑनलाइन मेले एवं टूल किट वितरण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, एक जनपद एक उत्पाद, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना एवं आत्मनिर्भर भारत सहित अन्य जन कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेश के सर्वांगीण विकास हो रहा है।

उक्त योजनाएं प्रदेश में औद्योगिक विकास को नई गति लाने के साथ ही नागरिकों के जीवन में खुशहाली लाने में बड़ी भूमिका अदा कर रही हैं।उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत परंपरागत हस्तशिल्प के स्किल डेवलपमेंट, उत्पादो को बेहतर बनाने हेतु इनका प्रशिक्षण कराने सहित उन्हें निशुल्क टूल किट का वितरण कर रही है। एमएसएमई उद्यमियों की समस्याओं के निदान हेतु विभिन्न एप्स के माध्यम प्लेटफार्म उपलब्ध कराए गए हैं।  योजनाओं के क्रियान्वयन में बैंकर्स ने विशेष रूचि दिखाई है। जिसके लिए उन्होंने बैंकर्स को बधाई दी।जिला सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) में जिला स्तरीय ऋण वितरण एवं टूल किट वितरण कार्यक्रम डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित हुआ। जिसमें डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह व सीडीओ अरविंद सिंह ने एलडीएम जितेंद्र नाथ श्रीवास्तव व उपायुक्त संजय सिंह की मौजूदगी में विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत हलवाई, टोकरी बुनकर, राजमिस्त्री लोहार के परंपरागत पांच लाभार्थियों को टूल किट का वितरण किया।

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत टेलरिंग के व्यवसाय हेतु तीन लाख, वुडन एवं फर्नीचर के व्यवसाय हेतु पांच लाख का ऋण, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत बुटीक एवं सिलाई कार्य हेतु एक लाख एवं ओडीओपी वित्त पोषण योजना के तहत दो लाभार्थियों को दस- दस लाख रुपए का ऋण प्रदान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *