Lakhimpur Kheri News:ई-लोक अदालत का आयोजन,लंबित वैवाहिक वाद/पारिवारिक व मोटर दुर्घटना प्रतिकर वादों का निस्तारण

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के प्रभारी सचिव, सिविल जज (व०प्र०) संदीप चौधरी ने दी जानकारी

एन.के.मिश्रा
लखीमपुर खीरी । प्रभारी सचिव/सिविल जज (व०प्र०) जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, लखीमपुर-खीरी संदीप चौधरी ने बताया कि मा० जनपद न्यायाधीश शिव शंकर प्रसाद के निर्देशन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लखीमपुर -खीरी द्वारा जनपद के पारिवारिक न्यायिक अधिकारियों के न्यायालयों में लंबित वैवाहिक वाद/ पारिवारिक एवं मोटर दुर्घटना प्रतिकर वादों को निस्तारित करने हेतु 01 नवंबर 2020 को ई-लोक अदालत का आयोजन किया गया।
उन्होंने बताया कि जनपद के पारिवारिक न्यायालय में आयो जित ई-लोक अदालत में वैवाहिक/पारिवारिक के कुल 09 वाद आपसी सुलह समझौता के आधार पर निस्तारित किए गए तथा मोटर दुर्घटना प्रतिकर के वादों के निस्तारण हेतुआयोजित ई-लोक अदालत में मोटर दुर्घटना प्रतिकर के निस्तारित 65 वादों में रु. 01,35,04,600.00 प्रतिकर पीड़ित व्यक्तियों को दिलाया गया। इस अवसर पर पीठासीन अधिकारी, मोटर दुर्घटना दावा अभिकरण लखीमपुर-खीरी नरेंद्र कुमार झा द्वारा सुलह समझौते के आधार पर मोटर दुर्घटना प्रतिकर के निस्तारित 65 वादो में रु. 01,35,04,600-00 प्रतिकर पीड़ित व्यक्तियों को दिलाया गया। जनपद की पारिवारिक न्यायालयों में से प्रधान न्यायाधीश/परिवार न्यायालय कुलदीप सक्सेना के न्यायालय में 01 वाद का आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारित किया गया। प्रथम अपर प्रधान न्यायाधीश/परिवार न्यायालय पवन कुमार शुक्ला के न्यायालय में 03 वाद आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारित किए गए। द्वितीय अपर प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय परवेज अख्तर के न्याया लय में 02 वाद आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारित किए गए। तृतीय अपर प्रधान न्यायाधीश/परिवार न्यायालय श्रीमती स्नेहा नेगी के न्यायालय में 03 वादों का आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *