Gonda News:कजरी तीज पर नही खुले प्रमुख मंदिरों के कपाट श्रद्धालुओ ने मंदिर के बाहर ही टेका माथा किया जलाभिषेक

  • कजरी तीज पर नही खुले प्रमुख मंदिरों के कपाट

श्रद्धालुओ ने मंदिर के बाहर ही टेका माथा किया जलाभिषेक

राम नरायन जायसवाल की रिपोर्ट

गोण्डा।कोविड के संक्रमण की वजह से कजरी तीज पर्व पर प्रशासन की सख्ती के कारण जनपद के प्रमुख शिव मंदिरों के कपाट बंद रहे।

 

 

कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए डीएम ने दो दिन पहले अधिकारियों व प्रमुख मंदिरों के महन्थ समाजसेवियों के साथ बैठक कर मंदिरों पर जलाभिषेक न होने के निर्देश दिए थे।गुरुवार को कजरी तीज पर्व पर सभी प्रमुख मंदिरों के कपाट बंद रहे।

 

 

कांवरियों को जलाभिषेक से रोकने के लिए सरजू नदी घाट पर पुलिस का कड़ा पहरा लगा रहा।जनपद के प्राचीन पृथ्वीनाथ मंदिर पर सुबह से ही मंदिर के चारों तरफ पुलिस की बैरिकेडिंग लगी रही।शहर के दुखहरण नाथ मंदिर पर आस्था रखने वाले श्रद्धालु शिव भक्त बैरीकटिंग के पास ही मत्था टेका व प्रसाद, जल चढ़ाकर वापस चले गए।श्रद्धालुओं की भींड़ भी कम दिखी।कोविड संक्रमण काल से पहले इस पर्व पर लाखों की संख्या में कांवरिये कर्नलगंज सरजू नदी से जल लेकर निकलते थे व पैदल जल चढ़ाने के लिए ऐतिहासिक प्रसिद्ध पृथ्वीनाथ मंदिर,दुखहरण नाथ मंदिर पर जलाभिषेक करते थे।इस बीच जगह जगह भारी सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम प्रशासन द्वारा किये जाते थे।
लेकिन इस बार प्रशासन की सख्ती व मंदिरों के कपाट बंद रखने के निर्देश के चलते सड़के व शिवालय वीरान दिखे।


पुलिस द्वारा लगाई गई बैरिकेडिंग पर भक्तों ने किया जलाभिषेक

शहर के प्रसिद्ध शिवमंदिर दुःखहरण नाथ मंदिर पर कपाट बंद होने की वजह से शिवभक्त जलाभिषेक नही कर सके।
इस दौरान पुलिस द्वारा लोगो को रोकने के लिए लगाई गई बैरिकेडिंग पर ही कुछ श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक कर दिया।
वहीं जलाभिषेक व प्रसाद भी चढ़ाकर भक्तों ने अपने परिजनों के कल्याणार्थ भगवान शिव मन्नते मांगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *