Balrampur News:दो पक्षों में हुए मारपीट में इलाज के दौरान मेडिकल कालेज मौत परिजनो ने शव रखकर किया प्रदर्शन सीओ के मानमनौवल के बाद दाहसंकार

अखिलेश्वर तिवारी

बलरामपुर । जनपद बलरामपुर के कोतवाली देहात क्षेत्र के ग्राम जमुनाही में गत 14 दिसंबर को दो पक्षों में मारपीट की घटना घटित हुई थी। घटना में एक पक्ष के 4 लोगों को गंभीर चोट आई थी । सभी घायलों को मौके पर पहुंची 112 नंबर पुलिस ने एंबुलेंस की सहायता से जिला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था । डॉक्टरों ने  घायलों में एक व्यक्ति राजकुमार  की हालत गंभीर देखते हुए लखनऊ मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया गया था । मेडिकल कॉलेज में गंभीर रूप से घायल राजकुमार मिश्रा की इलाज के दौरान  22 दिसंबर की शाम मौत हो गई। मौत के बाद पुलिस की कार्यशैली से नाराज परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया । साथ ही पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है । अभी तक आरोपियों को गिरफ्तार भी नहीं किया गया है । पुलिस क्षेत्राधिकारी द्वारा कार्रवाई के आश्वासन पर  परिजनों ने  अंतिम संस्कार  कराया है ।   

 
         मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली देहात क्षेत्र के जमुनहीं गांव में दो पक्षों में गोवंश  के खेत में घुसने को लेकर 14 दिसम्बर को विवाद के बाद मारपीट  की घटना  हुई थी । घटना में राजकुमार मिश्रा पुत्र पारसनाथ मिश्रा उनके दो बेटे आशुतोष मिश्रा और शुभम मिश्रा साथ ही बेटी रूबी मिश्रा घायल हो गए थे ।  सभी घायलों को यूपी 112 पुलिस की मौजूदगी में इलाज के लिए जिला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था, जहां से डॉक्टरों ने  राजकुमार को गंभीर हालत देखते हुए लखनऊ रेफर कर दिया था । मेडिकल कॉलेज में ही इलाज के दौरान 22 दिसंबर  को राजकुमार की मौत हो गई । राजकुमार की मौत के बाद शव का पोस्टमार्टम करा कर जब मृतक के घर पहुंचा तो परिजनों तथा ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ गया । मौत के बाद बुधवार को परिजनों ने मृतक का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया और आरोपियों के गिरफ्तारी की मांग करने लगे । साथ ही परिजनों का यह भी आरोप है कि पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। परिजनों का आरोप है कि पुलिस  आरोपियों को किसी राजनीतिक दबाव के चलते बचाने का प्रयास कर रही है । मृतक के बड़े बेटे आशुतोष मिश्र का कहना है कि पुलिस अगर दोषियों को बचा नहीं रही है तो अभी तक लगभग 8 दिन होने वाले हैं दोषियों को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया। इसी बात को लेकर मृतक के परिजन अंतिम संस्कार कराने से इनकार करते रहे  । मामला गंभीर होता देख  पुलिस क्षेत्राधिकारी वरुण मिश्रा मौके पर पहुंचे और उन्होंने परिवार को सांत्वना देते हुए जल्द कार्रवाई करने का आश्वासन दिया । जिसके बाद परिवार जन अंतिम संस्कार करने को तैयार हुए।  पुलिस की निगरानी में मृतक का अंतिम संस्कार कराया गया। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बताया कि पुलिस की टीमें लगातार आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दे रही है और जल्द से जल्द आरोपियों  को गिरफ्तार कर विधिक कार्रवाई की जाएगी। मृतक के परिजनों ने 15 दिसम्बर को गांव के रामशरण पुत्र रामसमुझ, शिव प्रसाद पुत्र राम समझ, रामदास पुत्र रामसमुझ, प्रवेश पुत्र रामशरण और मंटू पुत्र शिव प्रसाद के खिलाफ कोतवाली देहात में तहरीर दी थी। जिस पर पुलिस ने धारा 147,148, 323, 308, 504, 506 और 324 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *