Gonda Maskanwa News: नवोदित साहित्य संस्थान भोपतपुर के तत्वावधान में रायलसन इंटर कॉलेज भोपतपुर में मासिक काव्य गोष्ठी का आयोजन

बी.के.ओझा

मननकापुर ,गोण्डा ।नवोदित साहित्य संस्थान भोपतपुर गोंडा के तत्वावधान में रायलसन इंटर कॉलेज भोपतपुर गोंडा में मासिक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता आदरणीय गुरु श्री वासुदेव त्रिपाठी एवं संचालन संस्था के अध्यक्ष श्री वी एन शर्मा ने किया तथा सरस्वती वंदना युवा कवि राम सूरज वर्मा “प्रकाश” ने किया इस मौके पर कई गणमान्य कवि एवं गणमान्य श्रोता लोग7 उपस्थित रहे।


सर्व प्रथम राम सूरज वर्मा ‘प्रकाश’ ने भक्ति पूर्ण रचना पढ़ी “नियम, संयम से रहता हूँ मुझे कमजोर मत समझो, अपने इंद्रियों को कुछ हदों तक साध रखा हूँ।” रघुभूषण तिवारी ने दहेज पर रचना पढ़ी “कुछ बात समझ में आती न यह दहेज बना कैसा दान। हृदय विदारक घटना होती मानव अब न रहा मानव” काशीराम ‘कृष्न’ ने सौंदर्य भाव पर मार्मिक रचना पढ़ी “चन्द्राक्षु, चन्द्रबदनं, चंद्रमुखी, चंद्राणिका।चंचल चतुर चपलावती चहुँ ओर चमके तारिका शशि भांति शीशं सुंदरम सोलह किये श्रंगारिका।मृगनयनी, मनमोहिनी, कमलांगिनी सुकुमारिक।” संस्था के अध्यक्ष डॉक्टर वी एन शर्मा ने हिंदी पर मार्मिक रचना पढ़ी “हिंदी निर्धन की भाषा है हिंदी गावों की, आशा है, हिन्दी सबकी अभिलाषा है, हिन्दी अपनी परिभाषा है।”

हरीराम शुक्ल ने ऐतिहासिक रचना पढ़ी। “बहना, मोरी गठरी कांखी, घर घर हिंदी बांधे राखी, भैया तू हो जा हुमायु सा भाय, हिंदी से तुम्हार इहै रिश्ता बाय।”
हनुमान दीन पांडे ‘बेधड़क’ ने मातृभाषा पर रचना पढ़ी “मातृभाषा की तिलांजलि मत करो श्रीमान। माँ के सुत हिंदी अपनाओ, मूल मंत्र धरि ध्यान।”

बालकवि पूर्णेन्द्र प्रसाद पाण्डेय ने देश भक्ति की रचना पढ़ी “ये है प्यारा देश हमारा, इससे अवशिष्ट मिटाना है।देश के हर एक कोने को प्रदूषण हीन बनाना है।”
सुधांशु बसंत ने भक्ति पूर्ण रचना पढ़ी “अपना निज तन स्वर्ग है, अपना तन है धाम।अपने तन में है खुदा, अपने तन में राम।”

 इसके अलावा गोष्ठी में धर्मेन्द्र, सूरज, अर्जुन शुक्ला, वीरेन्द्र पाण्डेय, अरविन्द प्रसाद पांडेय, राम भूल, राहुल शर्मा, राजकुमार आदि गणमान्य लोग श्रोता के रूप में उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *